नेपाल और भारत उर्जा बैंक स्थापित करने की बना रहे हैं योजना

नेपाल और भारत उर्जा बैंक स्थापित करने की बना रहे हैं योजनाgaonconnection

काठमांडो (भाषा)। भारत और नेपाल उर्जा बैंक स्थापित करने की योजना बना रहे हैं ताकि बिजली की कमी की समस्या से निपटने में वे एक-दूसरे की मदद कर सकें। इस प्रस्ताव पर भारत-नेपाल संयुक्त स्थायी समिति की बैठक में चर्चा हुई। यह बैठक शुक्रवार को हुई थी।

काठमांडो पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार दोनों देशों के बीच उर्जा बैंक के संबंध में पहले अनौपचारिक चर्चा हुई थी, लेकिन यह पहला मौका है जब नेपाल ने औपचारिक प्रस्ताव दिया है। उर्जा बैंक अवधारणा के अनुसार नेपाल गर्मी के मौसम के दौरान भारत को बिजली का निर्यात करेगा और सर्दी के मौसम में बिजली का आयात करेगा जब उत्पादन कम हो जाता है, जिससे बिजली की किल्लत हो जाती है।

नेपाल और भारत के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 2014 में काठमांडो यात्रा के दौरान हुए बिजली व्यापार समझौते ने दोनों देशों के लिए उर्जा बैंक स्थापित करने का रास्ता साफ कर दिया है। बैठक में हिस्सा लेने वाले नेपाल बिजली प्राधिकरण के प्रबंध निदेशक मुकेश राज काफले ने कहा, ‘‘उर्जा बैंक की अवधारण स्पष्ट है। हम भारत को तब निर्यात करेंगे जब हमारा उत्पादन घरेलू उपभोग से अधिक होगा और हम संकट की घड़ी में भारत से आयात करेंगे।''

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top