नगर पंचायत फॉगिंग के बजाए कागज़ों पर उड़ा रहा धुआं

नगर पंचायत फॉगिंग के बजाए कागज़ों पर उड़ा रहा धुआंgaonconnection

शोहरतगढ़। गर्मी-बरसात का मौसम होने के चलते मच्छरों का आतंक दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। नगर के अंदर फॉगिंग कराने के बजाय जिम्मेदार साल भर से कागजों में धुआं उड़ा रहे हैं। बजबजाती नालियों की सफाई न होने के चलते मच्छर लार्वा छोड़ रहे हैं, इसके चलते मलेरिया फैलने की आशंका बनने लगी है।

इंसेफ्लाइटिस प्रभावित इलाका होने के बाद भी नगर पंचायत के जिम्मेदार नहीं चेत रहे हैं। इसका खामियाज़ा बीमारी लेकर लोगों को अस्पताल पहुंच कर उठानी पड़ रही है। नगर पंचायत के जिम्मेदार जनता के हितों से साथ किस कदर खिलवाड़ कर रहे हैं इसका उदाहरण अस्पतालों में पहुंचने वाले मरीजों से पता चल रहा है।

जून महीने से पहले नालियों की सफाई की व्यवस्था से बेपरवाह जिम्मेदार बरसात के समय नालियों की सफाई करा रहे हैं। इसके चलते नालियों से निकलने वाले सिल्ट बरसात होते ही वापस नालियों में जाकर जमा हो जा रहे हैं। जून माह में बरसात शुरू होने से अक्टूबर महीने तक मलेरिया को एनफ्लीज प्रजाति के मच्छर अपने प्रभाव को बरकरार रखते हैं। जो सुबह और शाम के समय प्रभावी सिद्ध होते हैं।

इससे मलेरिया फैलने की आशंका बढ़ गई है। बजबजाती नालियों और गंदे पानी की मार झेल रहे योगेश शुक्ला, महबूब खां, मनोज गुप्ता, दिलीप वर्मा, सतीश वर्मा आदि ने बताया कि जिम्मेदार समय से चेते होते तो उल्टी, दस्त जैसी गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता था, लेकिन लापरवाही का अंजाम जनता को भुगतना पड़ रहा है।

रिपोर्टर - सुजीत अग्रहरि

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top