नरसिंह को किसने मारी लंगड़ी? मोदी दरबार में पहुंचा मामला

नरसिंह को किसने मारी लंगड़ी? मोदी दरबार में पहुंचा मामलाक्या साज़िश के शिकार हुए भारतीय पहलवान नरसिंह यादव ?

नई दिल्ली। पहलवान नरसिंह यादव का मामला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दरबार में पहुंच गया है। भारतीय कुश्ती संघ ने नरसिंह को निर्दोष बताते हुए उनके खिलाफ साजिश का आरोप लगाया है। संघ ने शक जताया है कि सोनीपत के कैंप में खाने में दवा मिलाई गई, इस साजिश में एक महिला भी शामिल है।

भारतीय कुश्ती संघ (WFI) ने कहा है कि डोप टेस्ट में पॉज़िटिव पाए गए पहलवान नरसिंह यादव के साथ नाइंसाफ़ी हुई है। (WFI) के प्रेसीडेंट और BJP सांसद ब्रजभूषण सिंह ने सोमवार को कहा, ''नरसिंह यादव ने अपनी शिकायत में कहा है कि उनके साथ साज़िश हुई है। नरसिंह यादव ने एक महिला और एक खिलाड़ी का नाम लिया है।"

ब्रजभूषण सिंह ने कहा कि नरसिंह यादव बेक़सूर हैं। सिंह ने कहा कि नरसिंह यादव अब तक क़रीब 50 राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय इवेंट्स में भाग ले चुके हैं और डोप टेस्ट के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। ब्रजभूषण सिंह ने नरसिंह का बचाव करते हुए कहा कि वो अपने पहलवान के साथ हैं और उन्हें संरक्षण देंगे। उन्होंने कहा कि वो चाहते हैं कि नरसिंह ही 74 किलोग्राम भारवर्ग में भारत का प्रतिनिधित्व करें और पदक जीतें। 

उन्होंने कहा कि सोनीपत में कुश्ती का हब बनाया गया है। इसे पहलवान पसंद भी करते हैं। वहां हर तरह के प्रशिक्षक रहते हैं। इसी वजह से नरसिंह भी रह रहे थे। उन्होंनें कहा कि हरियाणा पुलिस ने नरसिंह पर ख़तरे की आशंका जताई थी। इसे देखते हुए स्पोर्ट्स ऑथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (SAI) के डीजी ने नरसिंह को कहीं और प्रशिक्षण की इजाज़त देने की बात कही थी। लेकिन नरसिंह ने इससे इनकार कर दिया। WFI चीफ़ ने कहा कि अब लगता है कि स्पोर्ट्स ऑथॉरिटी ऑफ़ इंडिया के डीजी की रिपोर्ट सही थी। ब्रजभूषण सिंह ने कहा कि हम संस्थाओं के संपर्क में हैं। सरकार ने इस घटना को गंभीरता से लिया है। ओलंपिक में भाग लेने वाले खिलाड़ी का नाम बदलने की अंतिम तारीख़ 18 जुलाई थी। इस साल रियो ओलंपिक के लिए 74 किलोग्राम भारवर्ग में भारत की ओर से नरसिंह यादव और ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार ने क्वालीफ़ाई किया था। कोर्ट के दखल के बाद नरसिंह यादव का नाम रियो ओलंपिक जाने के लिए तय किया गया था।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top