पढ़ाई छोड़ने को तैयार बच्ची की एसओ ने माफ कराई फीस

पढ़ाई छोड़ने को तैयार बच्ची की एसओ ने माफ कराई फीसgaonconnection

हरदोई। स्वयं प्रोजेक्ट के तहत हमारी कोशिशों से ये तय हो गया है कि पढ़ाई के अभाव में एक बच्ची को अपना घर नहीं छोड़ना पड़ेगा। पुलिस अधिकारी जिनको बहुत सख्त बताया जाता है, वह ही उसके काम आएंगे।

कछौना ब्लॉक के कोरीहाना गाँव की इस लड़की की व्यथा है कि वह सौतली मां की प्रताड़ना से तंग है। उसको फीस के रुपए नहीं दिए गये हैं। इसलिए वह घर छोड़ कर दिल्ली भाग जाएगी। अब क्षेत्रीय एसओ ने उसकी पढ़ाई का पूरा खर्च उठाने का फैसला किया है।

पढ़ाई की इच्छा है पर उसके पास फीस के पैसे नहीं हैं, ऊपर से सौतेली मां की प्रताड़ना। जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर कछौना ब्लॅाक के कोरीहाना गाँव की रहने वाली छात्रा ने ये दावा किया था कि सोमवार को वह घर छोड़कर दिल्ली भाग जाएगी।

उसकी सौतेली मां उसे पिछले कई वर्षों से शारीरिक और मानसिक तौर पर परेशान कर रही हैं। 16 वर्ष की ये बच्ची घर से तंग आकर आत्महात्या करने पर मजबूर थी। कई महीनों से स्कूल में फीस नहीं जमा हुई थी। स्कूल वाले नाम काटने के लिए कह रहे थे। उसका कहना है कि मेरी बात सुनने वाला कोई नहीं। 

उसका कहना था कि मेरे गाँव से आठ लड़कियां स्कूल जाती थीं, पर इस समय सिर्फ दो लड़कियां स्कूल जा रही हैं। हम घर छोड़कर दिल्ली जा रहे थे। घर से चोरी-चुपके थाने में सहायता मांगी। जहां उसे सहायता मिली पर उसको शिक्षा के लिए, परिवार की कलह से अभी छुटकारा नहीं मिला। बच्ची का कहना है कि अब और मार नहीं खाना चाहती। रात में जब घर वालों को पता चला कि उसने थाने में शिकायत की है तो उसको मारा और घर से भी निकाल दिया। 

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

Tags:    India 
Share it
Top