फिल्मी कहानी से कम नहीं संजय दत्त की ज़िंदगी

फिल्मी कहानी से कम नहीं संजय दत्त की ज़िंदगीgaonconnection

लखनऊ। संजय दत्त आज अपना 57 वां बर्थडे मना रहे है। मालूम हो कि 1993 मुंबई धमाकों से जुड़े मामलों की सजा काटने के बाद वह अपने घर लौट आए हैं। इस बार वह अपना जन्मदिन अपने परिवार और दोस्तों के साथ मना रहे हैं। उनसे जुड़े दिलचस्प पहलू-

-संजय दत्त 29 जुलाई 1959 को सुनील और नरगिस दत्त के यहां जन्मे थे। बचपन से ही अपने परिवार के रहे संजय की शिक्षा कसौली के पास लॉरेंस स्कूल, सनावर में हुई थी। घर में फिल्मी माहौल रहने के कारण संजय दत्त अक्सर माता-पिता के साथ शूटिंग देखने जाया करते थे। 

-संजय दत्त ने बतौर बाल कलाकार अपने करियर की शुरुआत अपने पिता के बैनर तले बनी फिल्म 'रेशमा और शेरा' से की थी। 

-इसके बाद बतौर एक्टर उनकी पहली फिल्म 'रॉकी' 1981 में आई जो सुपरहिट साबित हुई। 1981 में ही संजय की मां नर्गिस का निधन हो गया। कहा जाता है कि संजय उस समय टूट गए और बाद में गलत संगत और कामयाबी की चमक-धमक में उन्हें ड्रग्स की आदत लग गई।

-पिता सुनील दत्त ने उनका नशा छुड़ाने के लिए इलाज के लिए अमेरिका ले गए। वहां लंबे इलाज के बाद संजय ने ड्रग्स को अलविदा कहा और दोबारा बॉलीवुड में वापसी की। संजय को अपने उम्र से बड़ी रिचा शर्मा से मोहब्बत हुई और दोनों ने 1987 में शादी कर ली। 

-संजय की बेटी त्रिशाला दत्त के जन्म के कुछ दिन बाद उनकी पत्नी रिचा को ब्रेन कैंसर हो गया और नौ साल बाद ही रिचा की मौत हो गई। पत्नी की मौत के बाद संजय फिर अकेले हुए और उनका फिल्मी करियर फिर से मुश्किल में आ गया।

-1993 में हुए मुंबई बम धमाकों के दौरान संजय पर हथियार रखने का खुलासा हुआ। संजय उस समय मॉरिशस में फिल्म 'आतिश' की शूटिंग कर रहे थे। जब वह मुंबई पहुंचे तो एयरपोर्ट पर पूछताछ के दौरान ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। 

-पूछताछ के दौरान संजय ने कथित तौर पर इस बात को स्वीकार किया था कि अबू सलेम जनवरी 1992 में मैग्नम वीडियो कंपनी के मालिकों समीर हिंगोरा और हनीफ कड़ावाला के साथ उनके घर आए थे, हालांकि संजय ने सफाई दी कि हथियार उन्होंने अपनी हिफाजत के लिए रखे थे लेकिन बम धमाकों के साजिश करने वालों के करीबियों से संपर्क रखने का खामियाजा संजय को भुगतना ही पड़ा। टाडा कानून के तहत संजय पर मुकदमा चलाया गया और छह साल की सजा हुई।    

-संजय ने 1998 में मॉडल रिया पिल्लई से शादी की। संजय की दूसरी शादी सिर्फ सात साल चली और वह 2005 में रिया से अलग हो गए।

-2006 में संजय को बड़ी राहत मिली मुंबई बम धमाकों के मामले की सुनवाई कर रही टाडा अदालत ने कहा कि संजय आतंकवादी नहीं है। उन्होंने अपने घर में गैरकानूनी रायफल अपनी हिफाजत के लिए रखी थी।

-2003 में संजय की फिल्म 'मुन्नाभाई एमबीबीएस' फिल्म रिलीज हुई। इस फिल्म ने संजय की रील और रियल लाइफ को बदल कर रख दिया। 

-2008 में संजय ने तीसरी शादी की । दो साल तक अपने लव अफेयर को छुपाए संजय दत्त ने मान्यता से मुंबई के एक अपार्टमेन्ट में शादी रचाई लेकिन शादी पर भी विवाद हुआ। मेराज नाम एक शख्स ने ये दावा किया कि मान्यता से उसका निकाह पहले ही हो चुका है और संजय मान्यता की शादी गैर-कानूनी है। एक बार फिर संजय दत्त कानूनी पचड़े में पड़ गए। आठ महीने तक कोर्ट में मामला चला और आखिरकार संजय दत्त के हक में ही फैसला आया।

-1993 के मुंबई बम धमाकों से जुड़े मामले में दोषी ठहराए गए 56 साल के संजय पुणे की यरवदा जेल से 42 महीने की सजा काटकर बाहर आए। संजय ने जेल से रिहा होने के बाद अपने बांद्रा स्थित घर पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में सफाई देते हुए कहा था कि मैं आतंकवादी नहीं हूं। 

First Published: 2016-09-16 16:29:21.0

Tags:    India 
Share it
Share it
Share it
Top