Top

फिल्टर करके गंगा में गिराया जाएगा नालों का पानी

फिल्टर करके गंगा में गिराया जाएगा नालों का पानीgaonconnection

कानपुर। गंगा में अब सीवर के नाले सीधे नहीं गिरेंगे। नालों के पास ही छोटे-छोटे ट्रीटमेंट प्लांट लगाए जाएंगे और वहां पानी शोधन के बाद गंगा में डाला जाएगा। गंगा में गिर रहे नालों को रोकने के बावत नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा के तहत आईआईटी में हुई बैठक में रूपरेखा तैयार की गई। इसका खाका तैयार करने की जिम्मेदारी इंजीनियर्स इंडिया लि. को दी गई है। कंपनी गंगा को बचाने के लिए खाका तैयार करेगी। 

गंगा में सबसे ज्यादा दूषित पानी सीसामऊ नाले के माध्यम से गिर रहा है। रोज 13.6 करोड़ लीटर सीवर का पानी सीसामऊ नाले के माध्यम से गिरता है। नाले को टेप किया जाए। 

शहर के सभी नालों व बिठूर के सभी नालों से गंगा में गिरते सीवर का लेखा-जोखा देने के आदेश जलकल विभाग को दिए गए। इसके अलावा टेनरियों के गिर रहे गंदे पानी को रोका जाए। खराब पड़े पंपिंग स्टेशन की मरम्मत कराई जाए ताकि पूरी क्षमता से पंपिंग स्टेशन कार्य करे। 

गंगा एक्शन समिति के प्रभारी डॉ. विनोद तारे, जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा, जल निगम के महाप्रबंधक अनिल गुप्ता मौजूद थे। अगली बैठक में नगर आयुक्त व केडी, उपाध्यक्ष के साथ की जाएगी।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.