फोटो गैलरी: इस तरह गांव कनेक्शन आप तक पहुंचाता है गांव और खेती किसानी की ख़बरें

फोटो गैलरी: इस तरह गांव कनेक्शन आप तक पहुंचाता है गांव और खेती किसानी की ख़बरेंझारखंड में जमशेदपुर से 75 किलोमीटर दूर गुड़ाबांधा ब्लॉक के ग्राम पंचायत भालकी गाँव गड़ियाडीह में श्रीविधी धान रोपाई कर रही महिलाओं से बात करतीं संवाददाता नीतू सिंह। फोटो- पूजा गर्ग

गांव कनेक्शन की ताकत फील्ड रिपोर्टिंग है, हमारी कोशिश रहती है गांव-गांव, खेत-खेत तक पहुंच कर आप तक ख़बर पहुंचाई जाए। कुछ तस्वीरें आपके लिए..

देश के सबसे बड़े मीडिया प्लेटफ़ॉर्म गाँव कनेक्शन के पत्रकार देश के कई राज्यों में जाकर खबरें करते हैं। हम किसानों से, महिलाओं से, छात्र-छात्राओं से मिलकर उनकी समस्याएं सुनते हैं। उनके द्वारा बताई समस्याओं को गाँव कनेक्शन न सिर्फ अखवार में पर्याप्त जगह देता है बल्कि सम्बंधित विभाग के अधिकारियों से बात करके समस्या का समाधान कबतक होगा इस पर भी जोर देता है।

आजतक का गांव कनेक्शऩ के दौरान खेत में गांव कनेक्शन के फाउंडर नीलेश मिसरा साथ में हैं आज तक की एग्जीक्यूटिव एडिटर स्वेता सिंह।

यूपी में बाढ़ की रिपोर्टिंग के दौरान एसोसिएट एडिटर मनीष मिश्रा।

गाँव कनेक्शन के डिप्टी न्यूज एडिटर अरविन्द शुक्ला सीतापुर जिले में घाघरा की रिपोर्टिंग करते हुए।
ललितपुर जिले में 'चप्पल कुप्रथा' के बारे में बताती गाँव की के बेटी

पिछले पांच वर्षों में हमारी लिखी कई खबरों का न सिर्फ ग्रामीण स्तर पर असर हुआ है बल्कि सरकारी योजनाओं में भी हमारे सुझावों को जगह दी गयी है। खबरें हम वही लिखते हैं, जो गाँव में देखते हैं, जो आप बताते हैं, वही लिखते हैं। खबरों में सच्चाई हो, उस खबर से आपका सरोकार हो, हम उन सभी मुद्दों पर लिखें जो सीधा आपसे जुड़ाव रखते हों, ये हमारी कोशिश रहती हैं।

ये भी पढ़ें-

बुन्देलखंड के हजार घंटे की सीरीज के दौरान ललितपुर जिले में दिति वाजपेयी और अरविन्द शुक्ला। फोटो विनय गुप्ता।

हम सिर्फ खबरों के लिए ही गाँव में नहीं जाते बल्कि आप भी हमारे लिए लिखें और अपने गाँव की आवाज़ बनें ये हमारी कोशिश रहती है। हम किसानों को, महिलाओं को, छात्र-छात्राओं को ख़बर लिखने का समय-समय पर प्रशिक्षण भी देते हैं जिससे वो अपने गाँव की आवाज़ बनें और हमारे लिए स्वयं पत्रकार बने।

ये भी पढ़ें- एक दम ज़ुदा होगा खबरों का अंदाज, गाँव कनेक्शन और द क्विंट पर आ रहा है "द नीलेश मिसरा शो"

चित्रकूट के हरिजनपुर गाँव में ददुआ से टक्कर लेने वाली पाठा की शेरनी रामलली और वहां के ग्रामीणों से रिपोर्टर नीतू सिंह बात करती हुई।
भुवन सिंह कैमरे में शूट करते बच्चों को

उत्तर प्रदेश के 25 जिलों में जिले स्तर से लेकर गाँव तक में हमारे स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट हैं जो हमारे लिए लिखते हैं। डॉ, वकील, शिक्षक, आशा-बहु, आगंनबाडी कार्यकत्री, स्वयं सहायता समूह की महिलाएं, किसान, सामाजिक कार्यकर्ता, छात्र-छात्राएं आप सभी हमारे लिए लिखते हैं।

ये भी पढ़ें- लोक गायिका मालिनी अवस्थी के मन की बात.. जोर-शोर से हो गांव की बातें...

महिलाओं से जुड़ी समस्याओं पर रिपोर्टिंग करती हुई सीनियर रिपोर्टर श्रंखला पाण्डेय।

रिपोर्टिंग के दौरान हम सिर्फ खबर ही नहीं करते हैं बल्कि आप सभी से बहुत कुछ सीख कर आते हैं। आप सभी के सहयोग और प्रयासों से अपना गाँव कनेक्शन है दिनों दिन आगे बढ़ रहा है। आपका सहयोग आने वाले समय में हमेशा ऐसा ही बना रहे, जिससे हम आपकी उम्मीदों पर खरा उतर पाएं।

ये भी पढ़ें- मैं 40 वर्षों से शहर में रह रहा हूं लेकिन मेरा मन गाँव में ही रहता है-विधानसभा अध्यक्ष


झारखंड के जमशेदपुर में महिला किसानों से बात करती नीतू सिंह।

हरदोई जिले में ग्रामीणों से बात करते रिपोर्टर विनीत वाजपेयी।
मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले में रिपोर्टिंग के दौरान ट्यूबवेल से पानी पीते बिनीत बाजपेई।
मंदसौर जिले में किसानों के अनुभवों का वीडियो बनाती नीतू सिंह ।
मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में किसानों से बात करते विनीत बाजपेई।
लखनऊ के केजीएमयू के मानसिक चिकित्सा विभाग के अध्यक्ष प्रो. पीके दलाल से बात करते रिपोर्टर दिपांशु मिश्र की विशेष बातचीत।
कृषि रिपोर्टर अश्वनी निगम सिंघाडे पर स्टोरी के दौरान।
किसानों से बात करते सीनियर सब एडिटर करन पाल सिंह (चेक शर्ट में)
सीतापुर जिले में स्वयं फेस्टिवल के दौरान सीनियर रिपोर्टर देवेन्द्र सिंह नीले कोट में
बुंदेलखंड की सिरीज के दौरान चित्रकूट के जंगलों में मनीष मिश्रा।
गाँव कनेक्शन टीवी के लिए किसानों के अनुभव शूट करते भुवन सिंह
बाराबंकी जिले में विद्यार्थियों को अपने गाँव की आवाज़ बनने के लिए प्रेरित करते कम्यूनिटी जर्नलिस्ट वीरेंद्र शुक्ला।
कन्नौज में ग्रीन गैंग की महिलाओं से बात करतीं स्वयं प्रोजेक्ट की सौम्या टंडन। (काले सलवार-सूट में)
किसानों से बात करते हुए भास्कर त्रिपाठी
मिर्जापुर में रिपोर्टिंग के दौरान बच्चों के साथ वक़्त गुजारते हुए मिथलेश धर दुबे
बुदेंलखंड की सिरीज के दौरान अरविन्द शुक्ला और दिती वाजपेयी ने स्कूटी से तय की 1200 किलोमीटर की यात्रा
हरदोई जिले में किसानों से उनकी फसल के बारे में जानकारी लेती नीतू सिंह
छत्तीसगढ़-यूपी बार्डर पर आदिवासियों के बीच विनीत बाजपेई।
बुलंदशहर में महिलाओं और किशोरियों को खबर लिखने का तरीका सिखाते देवांशु मणि तिवारी
मेरठ के एक स्कूल में एक शिक्षक की तरफ से गाँव कनेक्शन के कम्युनिटी जर्नलिस्ट बनाने के मुहिम की तारीफ़ करता एक शिक्षक
सपेरा समुदाय की समस्याओं को सुनती गांव कनेक्शऩ की रिपोर्टर।
सीतापुर में कटिया कृषि विज्ञान केंद्र के डॉ दयाशंकर श्रीवास्तव, गनाव कनेक्शन के विकास तोमर
औरैया जिले में महिला समाख्या की सक्रिय महिलाओं गाँव कनेक्शन का वीडियो दिखाते अरविन्द शुक्ला
श्रावस्ती जिले में वीडियो बनाती दिति बाजपेई।
सीतापुर जिले में करण पाल सिंह किसानों से बातचीत करते हुए
हरदोई जिले के गीता देवी इंटर कॉलेज के बच्चों को अखवार में उनकी खबरें दिखाती नीतू सिंह

Share it
Top