सुनिए नीलेश मिसरा की आवाज़ में उनकी मंडली की सदस्या रश्मि कुलश्रेष्ठ की लिखी कहानी 'बेपरवाह'

बात बेबात पे अपनी ही बात कहता है मेरे अंदर मेरा छोटा सा शहर रहता है

उस रोज़ की वो मीठी झड़प मेरे दिल में कहीं अटक कर रह गई और शायद अमित के भी। लम्हे गूंथते हुए मैं उस लम्हे तक पहुंच गई... जब डेढ़-साल की रिलेशनशिप के बाद उसने शादी के लिए प्रपोज़ किया। मेरी ही कोई बात ज़हन में रखकर उसने पूरा फ़िल्मी-स्टाइल में प्रपोज़ किया था। ना जाने कैसा एहसास था वो... पहली बार मुझे मेरी ही धड़कने सुनाई दीं।

आगे क्या हुआ जानने के लिए सुनिए ये कहानी...

मेरे साथ जुड़ने के लिए Subscribe करें हमारा चैनल #NeeleshMisra अगर आपको वीडियो पसंद आई तो Like, Comment, Share करें।

Subscribe our YouTube channel http://bit.ly/2sYLmzw

Facebook:https://www.facebook.com/TheNeeleshMisraPage/?ref=br_rs

Instagram:https://www.instagram.com/neeleshmisra/

Twitter: https://twitter.com/neeleshmisra

Share it
Top