पोषण माह से सुधरेगी बच्चों की सेहत

पोषण माह से सुधरेगी बच्चों की सेहतगाँव कनेक्शन

बाराबंकी। बाल स्वास्थ्य एवं पोषण में सुधार योजना को जिले में मूर्त रूप देने की कोशिशें बढ़ाई जा रही हैं। बच्चों के स्वास्थ्य सुधार की इस महत्वाकांक्षी योजना में सरकार, योजना और लाभार्थी के बीच एडवोकेसी कर इसे धरातल पर उतारने के नए सिरे से प्रयास तेज कर दिए गए हैं। 

सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च सीफर की राज्य परियोजना अधिकारी रंजना मिश्र ने बताया है, कि ट्रिपल-ए आंगनबाड़ी, आशाबहू और एएनएम को योजना के प्रति सक्रिय किया जाएगा। इसकी सफलता के लिए उन्हें जिम्मेदारी भी सौंपी गई है। रंजना मिश्र ने बताया कि बाल स्वास्थ्य एवं पोषण माह से बच्चों में सुधार तो होगा ही मृत्यु दर में कमी भी आएगी। उन्होंने बताया कि 149 प्रतिशत बच्चे 0.6 वर्ष के आयु वर्ग के हैं। राष्ट्रीय स्तर पर पांच वर्ष के अंदर के बच्चों में मृत्यु दर 49 जबिक प्रदेश में मृत्यु दर 90 है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग एवं आइसीडीएस के सहयोग से संचालित बाल स्वास्थ्य पोषण माह साल में दो बार जून व दिसंबर में ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस के साथ आयोजित किया जाता है। इन महीनों में प्रत्येक सप्ताह बुधवार व शनिवार को बाल स्वास्थ्य पोषण माह से जड़ी सुविधा, ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस के दिन दी जाती हैं। कुपोषण से बचाव एवं उपचार के साथ ही नियमित टीकाकरण में लक्षित बच्चों को शामिल किया जाए। आयोडीनयुक्त नमक के प्रयोग को बढ़ावा देकर बच्चों में शारीरिक एवं मानसिक विकृतियों में कमी लाना योजना का उद्देश्य है। इस अवसर पर काफ़ी लोग मौजूद थे।

Tags:    India 
Share it
Top