प्रशासनिक अधिकारियों मौजूदगी में हटाया गया अवैध निर्माण

प्रशासनिक अधिकारियों मौजूदगी में हटाया गया अवैध निर्माण

उन्नाव। उन्नाव-शुक्लागंज के बीच फोरलेन निर्माण के लिए जिला प्रशासन ने अतिक्रमण हटाआे अभियान की शुरुआत कर दी है। राजधानी मार्ग के किनारे बसे मकानों व मंदिरों पर प्रशासन का बुलडोजर जमकर गरजा। भारी पुलिस बल की मौजूदगी में अवैध मकानों व दुकानों के साथ मंदिरों में भगवान की मूर्तियों को हटवाकर मंदिरों का निर्माण ढहाया गया। इस बीच सोमवार रात शहर के मातादीन दीनेश्वर महादेव मंदिर के निर्माण को जेसीबी से तोडऩे पर क्षेत्रीय लोगों ने विरोध भी दर्ज कराया। मामला बढऩे पर प्रशासनिक अधिकारियों ने पुलिस बल की मौजूदगी में निर्माण ढहा दिया। क्षेत्रीय लोगों की मांग थी कि निर्माण को जेसीबी के बजाए हाथ से तोड़ा जाए।

मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल उन्नाव-शुक्लागंज मार्ग का चौड़ीकरण किया जाना है। इसके लिए जिला प्रशासन ने मार्ग चौड़ीकरण की जद में आने वाले लोगों को नोटिस थमा कर अवैध निर्माण को हटाने की चेतावनी दी थी। इस बीच प्रशासन ने अवैध निर्माण को ढहाने के लिए अभियान की शुरुआत कर दी। जिला प्रशासन ने शुक्लागंज से लेकर अचलगंज तिराहा के बीच आने वाले मकानों व दुकानों को चिन्हित कर उन्हें तोडऩा शुरू करा दिया है। जिला प्रशासन द्वारा शुरू किए अभियान में अब तक सैकड़ों की संख्या में भवन व दुकानें तोड़ी जा चुकी हैं। वहीं फोरलेन की जद में आ रहे मंदिरों पर भी प्रशासन ने अपनी नजरें टेढ़ी रखी। मंदिरों से भगवान की मूर्तियों को सुरक्षित बाहर निकाल कर जिला प्रशासन ने मंदिरों के निर्माण को तुड़वाया। राजधानी मार्ग स्थित कई मंदिरों का निर्माण प्रशासन ने सुरक्षित तरीके से ढहा दिया लेकिन शहर के मातादीन दीनेश्वर मंदिर का निर्माण ढहाने के दौरान प्रशासन को क्षेत्रीय लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। जेसीबी से निर्माण ढहाए जाने के दौरान लोग सड़कों पर उतर आए और प्रदर्शन करने लगे। इस बीच प्रशासनिक अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर क्षेत्रीय लोगों से बात की। अधिकारियों के समझाने के बाद ही मामला शांत हुआ। जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने बताया कि अभियान लगातार जारी रहेगा। फोरलेन की जद में आने वाले निर्माण को ढहाया जा रहा है। 

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top