पश्चिमी यूपी में कांवड़ पर रहेगी ड्रोन की नज़र

पश्चिमी यूपी में कांवड़ पर रहेगी ड्रोन की नज़रgaonconnection

बागपत। सावन में कांवड़ के दौरान संवेदशनशील स्थानों पर ड्रोन कैमरों से नज़र रखी जाएगी। बाहरी ख़तरों के साथ ही हादसों आदि को टालने के लिए भी निगरानी का अहम रोल रहेगा। मुख्य सचिव ने जारी आदेश में कहा कांवड़ के दौरान शांति बनाए रखने के लिए हर संभव उपाय किए जाएं ताकि माहौल न ख़राब हो। साथ ही मुख्य सचिव ने डीएम को आदेश दिए है कि कांवड़ मार्गों में पड़ने वाले अतिक्रमण को हटाने व गड्ढों को भरा जाए, ताकि शिवभक्तों को किसी भी प्रकार की परेशानी न उठानी पड़े और इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतने की हिदायत दी है। 

अगले सप्ताह शुरू होने जा रहे सावन माह में कांवड़ यात्रा पर शासन का भी फोकस रहेगा। 19 जुलाई से सावन माह शुरू हो रहा है और सावन के शुरू होते ही शिवभक्त हरिद्वार, ऋषिकेश व गोमुख के लिए कांवड़ लाने को निकल जाते है। कांवड़ लाने के लिए लाखों की संख्या में युवा, बुजुर्ग, महिलाए व युवतियां जाती है, ताकि उनकी मन्नत पूरी हो जाए। शिवभक्त शहरों व कस्बों के साथ-साथ ग्रामीण इलाकों से निकलते हैं। कई जगह तो ऐसे स्थान पड़ते हैं जहां बवाल हो चुके हैं।

इसको देखते हुए शासन भी सख्त हो गया है। कांवड़ यात्रा को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए मुख्य सचिव दीपक सिंघल ने अतिसंवदेनशील स्थानों पर पैनी नजर रखने के लिए कहा है, ताकि वहां से गुजरने वाले शिवभक्तों को किसी भी घटना का सामना न करना पड़े। अति संवदेनशील स्थानों पर ड्रोन कैमरे के साथ-साथ सुरक्षा भी नजर रखेंगे, जिससे शिवभक्त अपनी कांवड़ को लेकर आराम से गुजर सके। मुख्य सचिव ने सभी जिलाधिकारियों को जारी आदेश में कहा कि कांवड़ यात्रा से पहले मार्ग ठीक कराए जाए, जिससे शिवभक्तों को सड़क से गुजरते समय गड्ढों में न घुसना पड़े। मुख्य सचिव ने प्रस्तावित मार्ग की सफाई और प्रकाश की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। नदी किनारे पटरियां भी ठीक कराई जाए। 

रिपोर्टर - सचिन त्यागी

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top