अमरिंदर सिंह ने पंजाब के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, नवजोत सिंह सिद्धू बने कैबिनेट मंत्री 

अमरिंदर सिंह ने पंजाब के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, नवजोत सिंह सिद्धू बने कैबिनेट मंत्री पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह।

चंडीगढ़ (आईएएनएस)। कांग्रेस को विधानसभा चुनाव में शानदार जीत दिलाने के बाद अमरिंदर सिंह (75 वर्ष) ने आज पंजाब के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। अमरिंदर को राज्य के 26वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई। पंजाब के राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनौर ने उन्हें राजभवन में आयोजित समारोह में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। उनके साथ नवजोत सिंह सिद्धू समेत नौ मंत्रियों ने भी शपथ ली। आज शपथ ग्रहण करने वाले नौ मंत्रियों की सूची में वह तीसरे क्रम पर थे।

पंजाब की नई सरकार के मंत्री।

चुनाव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

अमरिंदर (75) ने पंजाब के मुख्यमंत्री के तौर पर दूसरी बार शपथ ली है। इससे पहले वह 2002-2007 के बीच राज्य के मुख्यमंत्री रहे थे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ब्रह्म महिंद्रा ने कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण की। पांच अन्य ने कैबिनेट मंत्रियों के तौर पर शपथ ग्रहण की। मनप्रीत सिंह बादल, साधु सिंह धरमसोत, तृप्त राजेंद्र सिंह बाजवा, राणा गुरजीत सिंह सोढी, चरणजीत सिंह चन्नी ने कैबिनेट मंत्रियों के तौर पर शपथ ग्रहण की।

भारतीय सेना में कैप्टन रहे अमरिंदर ने अंग्रेजी भाषा में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

इस समारोह में दो राज्य मंत्रियों को शपथ ग्रहण कराई। दोनों राज्य मंत्री महिलाएं हैं। इस समारोह में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई हस्तियों ने शिरकत की। समारोह यहां राजभवन में आयोजित किया गया और राज्यपाल वी पी सिंह बदनौर ने शपथ ग्रहण कराई।

कांग्रेस नेता आनंद शर्मा, भूपिंदर सिंह हुड्डा, कपिल सिब्बल, राज बब्बर, अंबिका सोनी, राजीव शुक्ला, सचिन पायलट, राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्र, अशोक गहलोत और अशा कुमारी भी शपथ-ग्रहण समारोह में शामिल हुए।

अमरिंदर के परिवार से उनकी पत्नी और पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रणीत कौर समारोह में मौजूद रहीं। उनके पाकिस्तानी मित्र अरुसा आलम भी इस शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए। पंजाब की वित्तीय समस्या को देखते हुए अमरिंदर के अनुसार इस शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन बेहद सादे तरीके से किया गया।

कांग्रेस के चुनाव प्रचार अभियान के दौरान यह बात सामने आई थी कि पंजाब पर 200,000 करोड़ रुपए का कर्ज है।

कांग्रेस ने 117 सदस्यीय विधानसभा के लिए हुए चुनाव में 77 सीटों पर जीत हासिल की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमरिंदर सिंह को पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभालने पर बधाई दी और उन्हें राज्य के विकास के लिए काम करने के लिए शुभकामनाएं दीं।

नवजोत सिंह सिद्धू को शपथ दिलाते राज्यपाल वी पी सिंह बदनौर।

पंजाब मंत्रिमंडल में शामिल हुए सिद्धू

क्रिकेटर से राजनेता बने नवजोत सिंह सिद्धू गुरुवार को मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार में कैबिनेट मंत्री के तौर पर शामिल हुए। सिद्धू को राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनौर ने राजभवन में आयोजित समारोह में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। हालांकि सिद्धू को उपमुख्यमंत्री बनाए जाने की अटकलें लगाई जा रही थीं, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू।

सिद्धू पंजाब विधानसभा के लिए चार फरवरी को हुए चुनाव से ठीक पहले जनवरी में कांग्रेस में शामिल हुए थे। उन्होंने अमृतसर पूर्वी विधानसभा सीट से 42,000 के वोटों के अंतर से जीत दर्ज की। सिद्धू इससे पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में थे और अमृतसर से लोकसभा सदस्य रहे थे। वह 2004, 2007 (उपचुनाव) तथा 2009 में यहां से जीते थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने उन्हें अप्रैल 2016 में राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किया था।

Share it
Top