पिता के आशीर्वाद से समाजवादी आंदोलन को ऊंचाई तक पहुंचाएंगे: अखिलेश 

पिता के आशीर्वाद से समाजवादी आंदोलन को ऊंचाई तक पहुंचाएंगे: अखिलेश अखिलेश यादव।

लखनऊ (भाषा)। समाजवादी पार्टी (सपा) के दोनों धड़ों में जारी रस्साकशी के बीच दल के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज पार्टी कार्यकर्ताओं को नकली समाजवादियों से सावधान रहने की हिदायत देते हुए कहा कि उनके पिता मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद उनके साथ बना रहेगा और वह उनके आंदोलन को ऊंचाइयों तक पहुंचाएंगे।

अखिलेश ने सपा के आठवें प्रान्तीय अधिवेशन को सम्बोधित करते हुए कहा, समाजवादी पार्टी को नेताजी (मुलायम) के साथ-साथ उनके तमाम साथियों ने आगे बढ़ाया है। कई बार लोग सवाल उठाते हैं... मैं उनसे यही कहना चाहता हूं कि नेताजी हमारे पिता तो रहेंगे ही, वहीं उनका आशीर्वाद भी बना रहेगा, तो हम इस आंदोलन को और बढ़ाएंगे और देश की ऊंचाइयों तक पहुंचाएंगे।

अखिलेश का यह बयान ऐसे वक्त आया है जब मुलायम की ओर से दो दिन बाद संवाददाता सम्मेलन में एक नई पार्टी बनाने का ऐलान करने की अटकलें जोरों पर हैं। अधिवेशन में मुलायम और अखिलेश के प्रतिद्वंद्वी चाचा शिवपाल यादव उपस्थित नहीं थे। पूर्व मुख्यमंत्री ने शिवपाल के धड़े पर निशाना साधते हुए किसी का नाम लिये बगैर कहा, ''हम यह भी कहना चाहेंगे कि आप तमाम बनावटी समाजवादियों से सावधान रहना। मैं नकली समाजवादी लोगों के लिये कहना चाहूंगा कि उन्होंने कई कोशिशें और साजिशें कीं कि समाजवादी आंदोलन थम जाए। वे एक साजिश में तो कामयाब हो गये कि हम सरकार में नहीं आ पाये, लेकिन अब सभी समाजवादियों की आंख खुल गयी है। अब वे किसी भी साजिश में कामयाब नहीं हो सकते।''

ये भी पढ़ें : भाजपा से नाराज शिवसेना महाराष्ट्र सरकार से निकल सकती है बाहर

सपा अध्यक्ष ने कहा कि धर्मनिरपेक्ष राजनीति का रास्ता ही समाजवादियों का लक्ष्य रहा है और इस बात की खुशी है कि आज बड़े पैमाने पर लोग सपा की तरफ देख रहे हैं। बड़े पैमाने पर लोग आपकी पार्टी में आना चाहते हैं। खुशी है कि इंद्रजीत सरोज आपकी पार्टी में शामिल हैं। वह बड़ी संख्या में अपने साथ पूर्व विधायक और पूर्व प्रत्याशी लाये हैं। इससे समाजवादियों की ताकत बढ़ी है। हम अपने तमाम नेताओं से कहेंगे जहां हमने उन्हें शामिल किया है, वहीं आपकी जिम्मेदारी भी बनती है कि जिला और विधानसभा स्तर पर उनका सहयोग लेकर पार्टी को मजबूत करें।

अखिलेश ने गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव की तैयारियों में जुटने का आह्वान करते हुए कहा कि आने वाले समय में चुनाव का परिणाम जब आपके पक्ष में होगा तो वह संदेश केवल वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के लिये ही नहीं, बल्कि 2022 के विधानसभा चुनाव के लिये भी होगा। आपको पूरी ईमानदारी और मेहनत से जनता के बीच जाकर भाजपा सरकार की नाकामियों को बताना होगा।

ये भी पढ़ें : विभाजनकारी राजनीति विदेश में भारत की छवि बिगाड़ रही : राहुल गांधी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर लोकसभा सीट से इस्तीफा दिया है जबकि उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने फूलपुर सीट छोड़ी है। सपा अध्यक्ष ने अपने नेताओं तथा कार्यकर्ताओं से अपील की कि हमारे समाजवादी साथियों की जिम्मेदारी बनती है कि वे इस प्रदेश और देश को बचाएं।

अखिलेश ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी बुलेट ट्रेन परियोजना पर तंज करते हुए कहा कि अगर अहमदाबाद से मुंबई के बीच बुलेट ट्रेन चली रही है तो कम से कम कोई ट्रेन लखनऊ से कोलकाता के बीच चला दो। मगर जिस तरीके से आपकी ट्रेन चल रही है, किसी को भरोसा नहीं है कि ट्रेन कब पलट जाए, कब पटरी से उतर जाए। अधिवेशन में नरेश उत्तम पटेल को सर्वसम्मति से सपा का प्रदेश अध्यक्ष एक बार फिर चुन लिया गया। इसमें प्रदेश भर से करीब 15 हजार कार्यकर्ताओं ने शिरकत की। इस मौके पर सपा के वरिष्ठ नेता आजम खां, किरणमय नंदा तथा रामगोविंद चौधरी समेत तमाम वरिष्ठ नेता भी मौजूद थे।

ये भी पढ़ें : वाराणसी में पीएम मोदी ने योगी सरकार को पशु मेले के लिए दी बधाई, कहा-किसानों को मिलेगा इससे फायदा

Share it
Top