उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य का प्रशासन मठ चलाने जितना आसान नहीं, शिवसेना ने साधा भाजपा, योगी पर निशाना  

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   21 March 2017 6:13 PM GMT

उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य का प्रशासन मठ चलाने जितना आसान नहीं, शिवसेना ने साधा भाजपा, योगी पर निशाना  शिवसेना चुनाव चिन्ह।

मुंबई (भाषा)। एक बार फिर भाजपा पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने आज कहा कि उत्तर प्रदेश के नवनियुक्त मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी को अपने ‘‘धार्मिक कर्तव्यों'' का पालन करने से ज्यादा सुशासन पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। शिवसेना ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य का प्रशासन मठ चलाने जितना आसान नहीं है।''

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

गौरतलब है कि शिवसेना केंद्र और महाराष्ट्र में भाजपा की अगुवाई वाली सरकारों में साझेदार है, लेकिन फिर भी अक्सर भाजपा पर हमले बोलती है।

उत्तर प्रदेश में दो उप-मुख्यमंत्रियों की नियुक्ति के मुद्दे पर भी अपनी सहयोगी पार्टी को आड़े हाथ लेते हुए शिवसेना ने कहा कि इस कदम का मकसद आदित्यनाथ को ‘‘अपने धार्मिक कर्तव्यों का पालन करने के लिए स्वतंत्र रखना है।''

शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना' के संपादकीय में लिखा, ‘‘उत्तर प्रदेश में दो उप-मुख्यमंत्रियों की नियुक्ति की गई है, जबकि महाराष्ट्र के लिए भाजपा ने कहा था कि उप-मुख्यमंत्री की नियुक्ति उनकी नीति के विपरीत है। जम्मू-कश्मीर में उप-मुख्यमंत्री का पद पाने के लिए वे पीडीपी की महबूबा मुफ्ती के साथ मिल गए।''

गौरतलब है कि 2014 में भाजपा ने महाराष्ट्र में शिवसेना को उप-मुख्यमंत्री का पद देने से इनकार कर दिया था।

संपादकीय में आगे लिखा गया, ‘‘उत्तर प्रदेश में दो उप-मुख्यमंत्रियों की नियुक्ति करके योगी आदित्यनाथ को अपने धार्मिक कर्तव्यों के पालन के लिए स्वतंत्र कर दिया गया है।'' पार्टी ने गोरखपुर मठ, जिसके प्रमुख आदित्यनाथ हैं, का हवाला देेते हुए कहा, ‘‘धार्मिक कर्तव्यों का पालन करने की बजाय आदित्यनाथ को सुशासन एवं विकास करने पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए, उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य का प्रशासन मठ चलाने जितना आसान नहीं होगा।''

शिवसेना ने कहा, ‘‘आदित्यनाथ योगी को मुख्यमंत्री बनाने से राम मंदिर निर्माण के काम में तेजी आएगी और हिंदुत्ववादी ताकतों में नई उर्जा का संचार होगा, बहरहाल, नौकरियां पैदा करना भी अहम है और योगी को इसके लिए काम करना होगा।''

बीते रविवार को आदित्यनाथ योगी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिनेश शर्मा को राज्य का उप-मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top