‘तीन साल के अंदर चुनावी वादे होंगे पूरे, नहीं तो दे दूंगा इस्तीफा’ : रजनीकांत, जानें भाषण की खास बातें 

‘तीन साल के अंदर चुनावी वादे होंगे पूरे, नहीं तो दे दूंगा इस्तीफा’ : रजनीकांत, जानें भाषण की खास बातें प्रशंसकों का अभिवादन स्वीकार करते रजनीकांत

रजनीकांत का राजनीति में प्रवेश को लेकर बना सस्पेंस आज खत्म हो गया। उन्होंने साल 2017 के आखिरी दिन साफ कर दिया कि वह राजनीति में आ रहे हैं और 2021 में तमिलनाडु की सभी 234 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। रजनीकांत के इस ऐलान के बाद तमिलनाडु की राजनीति में एक नई पार्टी का जन्म हो गया है। काफी दिनों से इस सुपरस्टार के राजनीति में आने की खबरें आ रही थीं।

इस मौके पर रजनीकांत ने कहा कि वो तमिलनाडु में होने वाला अगला विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। इससे पहले रजनीकांत ने कहा था कि राजनीति में आने से पहले काफी सोच-समझकर ही फैसला लूंगा, इस बयान के बाद रजनीकांत के राजनाति में आने की अटकलें तेज हो गई थीं। रजनीकांत ने कहा कि वह लोकल चुनाव नहीं लड़ेंगे क्योंकि अभी उनके पास समय नहीं बचा है।

ये भी पढ़ें:- क्या ‘अम्मा’ की तरह तमिलनाडु की राजनीति में भी चलेगा रजनीकांत का जादू ?

रजनीकांत के भाषण की खास बातें

  • रजनीकांत ने कहा कि उनकी पार्टी 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव में राज्य की सभी 234 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।
  • उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी 2019 के संसदीय चुनावों में उतरने का निर्णय उचित समय पर लेगी।
  • उन्होंने कहा कि यदि वह सत्ता में आने के तीन साल के भीतर अपने चुनावी वादों को पूरा करने में असमर्थ होते हैं, तो इस्तीफा दे देंगे।
  • रजनीकांत ने कहा कि वो कायर नहीं हैं, इसलिए पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा कि वो अपने कर्तव्यों के साथ आगे बढ़ेंगे। तमिलनाडु की जनता को नीचे नहीं जाने देंगे।
  • दक्षिण के सुपर स्टार ने कहा, मुझे अपनी पार्टी में कैडर नहीं गार्ड चाहिए जो गलत होने से रोक सकें। मैं उनका सिर्फ सुपरवाइजर रहूंगा।
  • उन्होंने कहा कि वो सत्ता की लालच में राजनीति में प्रवेश नहीं कर रहे हैं।
  • उन्होंने कहा, "मुख्यमंत्री का पद मेरे पास बहुत समय पहले आया था, लेकिन मैं इससे दूर रहा।
  • रजनीकांत ने कहा चेन्नई में कई दिनों से पोस्टर लग रहे हैं, जिसमें कहा जा रहा है कि रजनीकांत अगर राजनीति में आते हैं तो वो अगले मुख्यमंत्री होंगे।
  • दक्षिण फिल्मों के सुपरस्टार ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि यहां सब कुछ बदलने की जरूरत है और वह अब समय आ गया है। हम सिस्टम को बदल देंगे। मैं सुशासन को सुनिश्चित करना चाहता हूं।
  • उन्होंने कहा कि मेरी पार्टी का मार्गदर्शक नारा होगा, 'अच्छा करो, अच्छा बोलो तो केवल अच्छा ही होगा'।
  • रजनीकांत ने लोगों से कहा कि किसी दौलतमंद आदमी के पीछे भगने के बजाय आपने मां-बाप की सेवा करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें : राजनीति में आ रहे हैं सुपरस्टार रजनीकांत

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top