Top
नागरिकता संशोधन कानून: उत्‍तर प्रदेश में हिंसा में छह लोगों की मौत

नागरिकता संशोधन कानून: उत्‍तर प्रदेश में हिंसा में छह लोगों की मौत

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ देशभर में हिंसक प्रदर्शन जारी हैं। इन हिंसक प्रदर्शनों की वजह से उत्‍तर प्रदेश में ही 6 लोगों की मौत हुई है। यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने 6 लोगों की मौत की पुष्‍टि की है। इसमें संभल, मेरठ, फिरोजाबाद, कानपुर में एक-एक शख्‍स की मौत हुई है, वहीं बिजनौर में दो लोगों की मौत हुई है।

शुक्रवार को उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर नागरिकता कानून का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ झड़प हुई। कानपुर में प्रदर्शन के दौरान 7 लोग घायल हुए, यह सभी अस्‍पताल में भर्ती हैं। इससे पहले उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में गुरुवार को भी हिंसा हुई थी। इसकी वजह से लखनऊ में शनिवार दोपहर तक मोबाइल इंटरनेट एवं एसएमएस सेवाएं बंद दी गई हैं।

यूपी के कई शहरों में इंटरनेट सेवाएं बंद

यूपी में हो रही इस हिंसा के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के कई शहरों में इंटरनेट सेवा अस्थाई तौर पर बंद कर दी गयी है। इसमें लखनऊ, मेरठ, मुजफ्फरनगर, मऊ जैसे जिले शामिल हैं। ऐसा ही पश्चिम बंगाल और कर्नाटक के कुछ संवेदनशील शहरों में भी किया गया है।

उत्तर प्रदेश

प्रदेश के शुक्रवार के दिन गाजियाबाद, मेरठ, सुल्तानपुर, गोरखपुर, कानपुर, उन्नाव, बुलंदशहर, हाथरस, हापुड़, अमरोहा, मुजफ्फरनगर, सीतापुर, बिजनौर, मुरादाबाद, फिरोजाबाद, भदोही, वाराणसी, बहराइच, संभल और वाराणसी प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प हुई। प्रदर्शनकारियों ने पत्थरबाजी की जवाब में पुलिस ने लाठीचार्च किया और आंसू गैस के गोले दागे। प्रदेश में अब तक तीन हजार से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया गया है। लखनऊ सहित 20 जिलों में इंटरनेट बंद कर दिया गया है।

नई दिल्ली

देश की राजधानी नई दिल्ली में नमाज के बाद जामा मस्जिद के बाहर भारी संख्या में भीड़ जुटी। इस दौरान पुलिस ने ड्रोन से निगरानी की और लोगों से शांति की अपील की। पूर्वोत्तर दिल्ली में सुरक्षा के कड़े इंतजाम रहे। पुलिस ने यहां शुक्रवार को 14 में से 12 थाना क्षेत्रों में धारा 144 लागू कर दी और फ्लैग मार्च भी निकाला। सीआरपीएफ और रैपिड एक्शन फोर्स की 10 कंपनियां पूर्वोत्तर दिल्ली में तैनात की गई हैं। 5 ड्रोन कैमरों से नजर रखी जा रही है। प्रदर्शन को देखते हुए डीएमआरसी ने 6 मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए।

गुजरात

गुजरात में शुक्रवार को भी स्थिति तनानपूर्ण रही। अहमदाबाद के हाथीखाना और फेतुपुरा इलाके में भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया जिसमें एसीपी भारत राठौड़ घायल हो गये। वहीं शाहआलम इलाके में हुए पथराव में डीसीपी और एक एसपी सहित 21 पुलिसकर्मी घायल हो गये। ईसनपुर थाने में 5 हजार लोगों पर मामला दर्ज कराया गया है। 49 लोगों की गिरफ्तारी भी हुई है।

कर्नाटक

राज्य में गुरुवार को पुलिस फायरिंग में दो लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद से मंगलौर और दक्षिण कन्नड़ जिले में 21 दिसंबर रात 10 बजे तक के लिए इंटरनेट बंद कर दिया गया है। वहीं धारा 144 अब 22 दिसंबर तक बढ़ा दी गई है। बेंगलुरु में हिंसा के मामले में 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.