बीजेपी विधायक कृष्णानन्द राय की हत्या के मामले में बाहुबली नेता अफजाल अंसारी बरी

29 नवंबर 2005 को गाजीपुर में बीजेपी विधायक कृष्णानन्द राय और उनके 6 साथियों की हत्या हुई थी, जिसमें अफजाल अंसारी को मुख्य आरोपी बनाया गया था।

बीजेपी विधायक कृष्णानन्द राय की हत्या के मामले में बाहुबली नेता अफजाल अंसारी बरी

लखनऊ। बीजेपी विधायक कृष्णानन्द राय की हत्या के मामले में बाहुबली नेता अफजाल अंसारी को बरी कर दिया गया है। सबूतों के अभाव में अंसारी सहित सभी आरोपियों को बरी किया गया। इस मामले में अंसारी के अलावा उनके भाई और सांसद अफजाल अंसारी, संजीव माहेश्वरी, एजाजुल हक, राकेश पांडेय, रामू मल्लाह, मंसूर अंसारी और मुन्ना बजरंगी इस मामले में आरोपी थे।

अंसारी के साथ आरोपी रहे मुन्ना बजरंगी की पिछले साल जुलाई में बागपत जेल में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उन्हें भी बरी कर दिया गया है। मुख्तार अंसारी के वकील विजय शंकर राय ने बताया कि सरकारी वकील मुख्तार अंसारी सहित किसी भी आरोपी पर कोई भी आरोप साबित नहीं कर पाए। कोर्ट ने सबूतों के अभाव में सभी को बरी कर दिया।

आपको बता दें कि 29 नवंबर 2005 को गाजीपुर में बीजेपी विधायक कृष्णानन्द राय और उनके 6 साथियों की हत्या हुई थी, जिसमें अफजाल अंसारी को मुख्य आरोपी बनाया गया था। मृतकों में मोहम्मदाबाद के पूर्व ब्लॉक प्रमुख श्याम शंकर राय, भांवरकोल ब्लॉक के मंडल अध्यक्ष रमेश राय, अखिलेश राय, शेषनाथ पटेल, मुन्ना यादव और उनके अंगरक्षक निर्भय नारायण उपाध्याय शामिल थे। मारे गए 7 लोगों के शरीर से 67 गोलियां निकली थी।

यह भी पढें- खनन घोटाला: CBI ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति के घर समेत 22 जगहों पर की छापेमारी

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top