Top

बागपत के होनहारों ने किया नाम रौशन, रिया जैन और अनुराग मलिक ने किया यूपी बोर्ड टॉप

दोनों ही बागपत के बड़ौत के श्रीराम इंटर कॉलेज के छात्र हैं।

Mohit SainiMohit Saini   27 Jun 2020 5:09 PM GMT

यूपी बोर्ड के जैसे ही नतीजे आए वैसे ही पहले पायदान पर बागपत के दो होनहार चमके। इनमे एक नाम है रिया जैन जिसने हाईस्कूल में यूपी टॉप किया है और दूसरा नाम है अनुराग मलिक जिसने यूपी में 12वी टॉप की हैं। सबसे बड़ी बात ये है कि दोनों ही बागपत के बड़ौत के श्रीराम इंटर कॉलेज के छात्र हैं। जबकि इसी स्कूल की 12वीं की छात्रा गरिमा कौशिक ने यूपी में छठा स्थान पाया है।

माता पिता का सपना हुआ पूरा

हर मां बाप का सपना होता है कि उनके बच्चे नाम रोशन करें और बच्चों के नाम से ही माता पिता की भी पहचान हो। हाईस्कूल की टॉपर रिया जैन के माता पिता ने भी अपनी बेटी वे साथ जी तोड़ मेहनत की। गरिमा कौशिक के पिता ने भी बेटी की पढ़ाई में रात दिन जागकर मदद की। आज बच्चों ने जब टॉप किया तब परिजन भी फूलें नहीं समा रहे हैं।

बेटे के सपने को करेंगे पूरा

अनुराग मलिक ने यूपी बोर्ड में 12वी में यूहीं टॉप नही किया। अनुराग की मेहनत और उसके परिवार के संघर्ष ने कामयाबी की इबारत लिखी। अनुराग आईएस ऑफिसर बनना चाहते हैं।

डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने टॉपर्स से बात

वीडियो कॉल पर बात कर दोनो टॉपर्स को डिप्टी सीएम ने बधाई दी। दोनो टॉपर्स से डिप्टी सीएम ने उनका सपना पूछा। इंटर टॉपर अनुराग ने सीएम और डिप्टी सीएम को नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए शुभकामनाएं भी दी।

लखनऊ के सचिवालय लोकभवन में दिनेश शर्मा इन परिणामों की घोषणा की। यह सिर्फ दूसरा मौका है जब यूपी बोर्ड के परिणामों की घोषणा लखनऊ से की जा रही है। इससे पहले 2007 में हाई स्कूल के परिणामों की घोषणा लखनऊ से हुई थी। वहीं अन्य सालों में यह यूपी बोर्ड के मुख्यालय इलाहाबाद से घोषित होती है।

इस बार यूपी बोर्ड में 10वीं और 12वीं के छात्रों को मिलाकर लगभग 56 लाख छात्र परीक्षा के लिए उपस्थित हुए थे, जिसमें हाईस्कूल के 3022607 और इंटर के 2584511 छात्र शामिल हैं। ये परीक्षाएं कोरोना लॉकडाउन से पहले ही 18 फरवरी से 3 मार्च के बीच आयोजित करा ली गईं थी। रिजल्ट से पहले सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक संदेश देकर छात्रों की हौसला अफजाई की है।

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, "मेरे प्यारे बच्चों, आज यूपी बोर्ड का परीक्षाफल आना है। वैसे परीक्षा व परीक्षाफल आत्म विश्लेषण का माध्यम मात्र हैं। अतः प्रत्येक परीक्षाफल को सहजतापूर्वक स्वीकार करना ही श्रेष्ठ है। प्रभु श्री राम की कृपा से आप सभी को मनोनुकूल परीक्षाफल की प्राप्ति हो।"

यह भी पढ़ें- यूपी बोर्ड के दसवीं और बारहवीं की परीक्षाओं का रिजल्ट घोषित, यहां देखें परिणाम


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.