मथुरा में दूषित पानी पीने से सौ से अधिक लोग डायरिया के शिकार, एक बच्ची की मौत

गोवर्धन परिक्रमा मार्ग में स्थित आन्यौर गांव में पिछले कुछ दिनों से लोगों को पेट संबंधी शिकायतें हो रही थीं लेकिन इसके पीछे की वजह पता नहीं चल पा रही थी

मथुरा में दूषित पानी पीने से सौ से अधिक लोग डायरिया के शिकार, एक बच्ची की मौतप्रतीकात्मक तस्वीर फोटो:गाँव कनेक्शन

मथुरा। उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद के एक गाँव में कुछ दिनों में दूषित पानी पीने से 100 से अधिक लोग डायरिया के शिकार हो गए और डेढ़ साल की एक बच्ची की मौत हो गई। घटना की जानकारी होने के बाद स्वास्थ्य विभाग हरकत में आया और अब इन लोगों का उनके घरों से लेकर सरकारी एवं निजी अस्पतालों में इलाज कराया जा रहा है।

गौरतलब है कि गोवर्धन परिक्रमा मार्ग में स्थित आन्यौर गांव में पिछले कुछ दिनों से लोगों को पेट संबंधी शिकायतें हो रही थीं लेकिन इसके पीछे की वजह पता नहीं चल पा रही थी। इसी बीच एक के बाद एक कई लोगों के बीमार पड़ जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग को इस बाबत सूचित किया गया।

ये भी पढ़ें: बैटरियों के कचरे से साफ हो सकेगा प्रदूषित जल : शोध

प्रतिकात्मक तस्वीर साभार: इंटरनेट

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. शेर सिंह ने बताया, " गोवर्धन के आन्यौर गांव में एक साथ बड़ी तादाद में लोगों को उल्टी-दस्त, पेट दर्द एवं बुखार होने की जानकारी मिली थी। सूचना मिलते ही चिकित्सकों की एक विशेष टीम बनाकर भेज दी गई। जिस प्रकार की स्थिति बताई जा रही है उससे लगता है कि ऐसा दूषित पेयजल पीने से ही हुआ है।"


ये भी पढ़ें: दूषित पानी से बीमारियों की दहशत पर खड़ा हो रहा आरओ और बोतलबंद पानी का बाजार

उन्होंने बताया, चिकित्सकों की टीम गांव में लगातार शिविर लगा कर सभी गांव वालों का स्वास्थ्य परीक्षण कर रही है। बीमारी के कारणों का सही-सही पता लगाने के लिए पानी के नमूने लेकर परीक्षण के लिए भेजा गया है। लगभग हर घर से कोई न कोई व्यक्ति डायरिया का शिकार हुआ है।


आन्यौर गाँव के राजेंद्र कुमार सिंह (40वर्ष) ने बताया, " कई दिन से हमारे गाँव में सप्लाई का पानी खराब आ रहा था। हम लोगों ने सोचा कि टंकी की सफाई नहीं होगी इसलिए ऐसा आ रहा है। अचानक से गाँव के कई दर्जन लोग बीमार हो गए। एक साथ जब 100 से ज्यादा लोग बीमार हो गए तो स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। गाँव में कैंप लगाकर बीमार लोगों का इलाज किया जा रहा है। "


गोवर्धन के उप जिलाधिकारी नागेंद्र प्रताप ने बताया, " सभी ग्रामीणों के इलाज के साथ-साथ गांव में सफाई अभियान भी चलाया जा रहा है तथा जल निगम को पानी की टंकी की सफाई के भी निर्देश दिए गए हैं।"

ये भी पढ़ें: दूषित पानी से होती हैं पेट की बीमारियां, बच्चों को उबाल कर दें पानी

वरिष्ठ फिजिशियन डॉक्टर शकील अहमद ने बताया, " पानी का सीधा असर सेहत पर पड़ता है। यदि पीने का पानी दूषित है तो इसका असर आपके स्वास्थ्य पर पड़ता है। पेट से जुडी ज्यादातर बीमारियां दूषित पानी की वजह से होती हैं। दूषित पानी पीने से हैजा, डायरिया, उल्टी और दस्त जैसी बीमारियां हो जाती हैं। खुले कुओं और हैंडपंप के पानी को उबाल कर पीना चाहिए।"

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top