अगर देश के 10-15 फीसदी कृषि वैज्ञानिक और अधिकारी ये करने लगें तो बदल जाएगी खेती की सूरत

वीडियो में जो शख्स धान रोपाई कर रहे हैं वो एक बड़े कृषि विश्वविद्यालय ये वीसी हैं। जानकारों का मानना है अगर इसी तरह कृषि अधिकारी और वैज्ञानिक किसानों तक पहुंचने लगें तो खेती कि किस्मत बदल जाएगी

Arvind ShuklaArvind Shukla   30 July 2018 5:56 AM GMT

लखनऊ। सोशल मीडिया पर एक अलग तरह का वीडियो वायरल हो रहा है, इस वीडियो में कोई सनसनी नहीं बल्कि एक संदेश हैं, ये संदेश किसान, कृषि वैज्ञानिकों और कृषि अधिकारियों के लिए है। वीडियो धान रोपाई के एक खेत का है, जिसमें कुछ मजदूर धान लगा रहे हैं। इन्हीं मजदूरों के बीच मौजूद एक शख्स घुटनों तक पैंट चढ़ाए भी मौजूद है, जो इस वीडियो को खास बनाते हैं। मजदूरों के धान रोपाई करते शख्स नरेंद्र देव कृषि विश्वविद्याल, फैजाबाद के वाइस चांसलर हैं।

उत्तर प्रदेश में फैजाबाद स्थित आचार्य नरेंद्र देव कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर प्रो. जीसी संधु ने खुद धान रोपाई कर मजदूरों का उत्साह बढ़ाया। प्रो. संधु विश्वविद्यालय के फार्म एरिया में धान की रोपाई देखने पहुंचे थे, जहां उन्होंने खुद भी धान रोपाई की।

धान रोपाई करते प्रोफेसर जीसी संधु। फोटो-साभार सोशल मीडिया

स्थानीय मीडिया के मुताबिक इस दौरान उन्होंने मजदूरों को धान लगाने का सही तरीका भी बताया। उन्होंने कहा कि जो वैज्ञानिक तथा कर्मचारी खेत और मिट्टी से डरते हैं, वे कृषि वैज्ञानिक सही मायनों में हो ही नहीं सकते।

भारतीय कृषि एवं अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली के पूर्व उप महानिदेशक प्रो. जीसी संधु को 19 फरवरी 2018 को एनडीयूएटी का वाइस चांसलर नियुक्त किया गया था। वो तीन साल तक इस पद पर कार्य करेंगे। दलहन के क्षेत्र में काफी कार्य कर चुके प्रो. संधु पिछले दिनों से यूपी में तिहलन की खेती को बढ़ावा देने की कोशिशों में जुटे हैं।

ये भी पढ़ें- किसानों की आय दोगुनी करने के लिए केवीके को किया जाएगा विकसित:सूर्यप्रताप शाही

ये भी पढ़ेें- तिलहन किसान पिछड़ा, दो तिहाई भारत खाता है विदेशी तेल

ये भी पढ़ें- 'प्रिय मीडिया, किसान को ऐसे चुटकुला मत बनाइए'

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top