सामान्य मानसून से कृषि आय में हो सकती है 20 प्रतिशत बढ़ोतरी: रिपोर्ट

सामान्य मानसून से कृषि आय में हो सकती है 20 प्रतिशत बढ़ोतरी: रिपोर्टgaonconnection

मुंबई (भाषा)। इस साल मानसून के सामान्य रहने से किसानों की आय में 20 प्रतिशत तक वृद्धि की उम्मीद है। दो साल सूखे के कारण इन किसानों का कर्ज बढ़कर उनकी सम्पत्ति का 22 प्रतिशत हो गया है। घरेलू ब्रोकरेज कंपनी जेएम फाइनेंशियल ने यह अनुमान जताया है।

जेएम फाइनेंशियल ने अपने तीसरे सालाना ग्रामीण सर्वे 'रुरल सफारी' में कहा, ‘‘मानसून के बेहतर होने से उत्पादन अच्छा हो सकता है और कृषि आय में 20 प्रतिशत की वृद्धि हो सकती है जबकि कुल ग्रामीण आय में वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान 12 प्रतिशत की वृद्धि हो सकती है। वहीं सरकार की तरफ से ग्रामीण खर्च में बढ़ोतरी से गैर-कृषि आय को मदद मिलने की संभावना है।''

औसतन किसानों की आय 2014-15 में 3.0 प्रतिशत तथा 2015-16 में 4.0 प्रतिशत की कमी आयी। वर्ष 2014 तथा 2015 के दौरान मानसून लंबी अवधि के औसत से क्रमश: 12 प्रतिशत और 14 प्रतिशत कम रहा। मौसम विभाग ने इस साल 106 प्रतिशत बारिश का अनुमान जताया है।

हालांकि सर्वे में आगाह किया गया है कि किसानों के कर्ज में उल्लेखनीय वृद्धि के साथ कृषि उपज की कम आय से पूर्ण रुप से पुनरुद्धार मुश्किल लगता है। किसानों के उपर कर्ज 2014-15 में बढ़कर 22 प्रतिशत हो गया जो इससे पूर्व वर्ष में 18 प्रतिशत था।

रिपोर्ट के अनुसार 2015-16 में कर्ज में 4.0 प्रतिशत वृद्धि तथा जमीन-जायदाद का बाजार बेहद कमजोर होने से हमारा अनुमान है कि शुरुआती बचत कर्ज में कमी लाने तथा छोटे सौदे के लिये किये जाने की उम्मीद है जिसका सकारात्मक प्रभाव अर्थव्यवस्था के पुनरुद्धार पर पड़ेगा।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top