गठबंधन में सपा 293 के करीब सीटें अपने पास ही रखेगी

Rishi MishraRishi Mishra   18 Jan 2017 9:19 PM GMT

गठबंधन में सपा 293 के करीब सीटें अपने पास ही रखेगीcm akhilesh yadav 

लखनऊ। पूरे दिन के इंतजार के बावजूद सपा, कांग्रेस और रालोद गठबंधन सहित समाजवादी पार्टी के टिकटों को लेकर कोई भी औपचारिक एलान नहीं किया गया। मगर इसको लेकर पूरा मंथन किया जा चुका है। ये औपचारिक घोषणा अब शुक्रवार को संभव है। भाजपा की दूसरी सूची आने के बाद सपा, कांग्रेस और रालोद के बीच सीटों के बंटवारे के अलावा टिकटों के बंटवारे को भी फाइनल किया जा सकता है। सपा अपने पास करीब 293 सीटें रखने का फैसला किया है। इस बीच में सपा से तीन महीने बर्खास्त किये गये युवा नेताओं की बहाली करने का फैसला भी लिया जा चुका है।

सपा से जुड़े सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुधवार को पदाधिकारियों और वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की। इस दौरान सपा के महासचिव रामगोपाल यादव भी मौजूद रहे। इस बैठक में गठबंधन और विधानसभा सीटों को लेकर भी विचार-विमर्श किया गया। करीब 85 सीटें कांग्रेस को, 25 के लगभग रालोद और बाकी बची हुई 293 सीटों पर सपा खुद चुनाव लड़ेगी। फिलहाल कांग्रेस 100 अधिक सीटों की डिमांड कर रही है। मगर बहुत जल्द ही फार्मूला फाइनल किया जाएगा। इसके साथ ही सपा में घोषणापत्र को लेकर भी कश्मकश और मंथन जारी है। पूरे दिन कयास लगाए जाते रहे कि दोपहर या शाम को सीएम प्रेस वार्ता कर के हालातों का खुलासा करेंगे, मगर कोई घोषणा नहीं की गई।

मुख्यमंत्री आवास पर लगा कार्यकर्ताओं का तांता, रविदास रोके गए

प्रत्याशियों के चयन पर मंथन की तैयारियों की सूचना के साथ ही मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आवास के बाहर कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों का तांता लगा रहा। कार्यकर्ता मुख्यमंत्री के अगले निर्देश का इंतजार करते दिखे। इस दौरान परिवारए मातृ एवं शिशु कल्याण मंत्री रविदास मेहरोत्रा को मुख्यमंत्री आवास पर रोका गया। मुख्यमंत्री ने मेहरोत्रा से मिलने से इंकार कर दिया।

य़े भी पढ़े- आनंद भदौरिया, उदयवीर और संजय लाठर समेत अखिलेश के करीबी 9 नेताओं की सपा में वापसी


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top