सभी संस्कृतियों के आदर से फले-फूलेगी दुनिया

सभी संस्कृतियों के आदर से फले-फूलेगी दुनियाgaonconnection

लंदन (भाषा)। RSS प्रमुख मोहन भागवत ने हिंदू धर्म को “अपवर्जक नहीं, ज्यादा समावेशी” बताते हुए कहा कि दुनिया तब भी फले-फूलेगी जब सभी संस्कृतियों का सम्मान उनकी विविधता के साथ किया जाएगा।

भागवत ने यहां से तकरीबन 50 किलोमीटर दूर हर्टफोर्डशायर में ब्रिटेन आधारित परमार्थ संगठन ‘हिंदू स्वयंसेवक संघ’ की ओर से आयोजित तीन दिन के ‘संस्कृति महाशिबिर’ के समापन सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि हिंदू धर्म जिंदगी का एक तरीका है।

भागवत ने ‘महाशिबिर’ में हिस्सा ले रहे ब्रिटेन और यूरोप के 2200 से ज्यादा प्रतिनिधियों से कहा, “विविधता भरी दुनिया में हर एक संस्कृति का सम्मान किया जाना चाहिए और जब सभी संस्कृतियों का सम्मान होगा, दुनिया फले फूलेगी।”

RSS प्रमुख ने कसरत पर जोर देते हुए कहा कि स्वस्थ शरीर और दिमाग के लिए कसरत जरुरी है। उन्होंने कहा, “स्वस्थ समाज खाने की उपयुक्त आदत और नियमित व्यायाम के साथ अनुशासित जीवन गुजारने पर निर्भर करता है।” तीन दिन तक चले ‘महाशिबिर’ में ‘संस्कार’, ‘सेवा’ और ‘संगठन’ समेत कई मुद्दों पर गहरी चर्चा की गई।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top