You Searched For "बुंदेलखंड"

  • हमारा लालच लील रहा है बुंदेलखंड की इन नदियों को

    कानपुर से हमीरपुर की ओर हाइवे से बढ़ने पर आप को एक लाइन से हरे रंग के डंपर और ट्रकों की कतार मिलेगी। जो दिन-रात नदियों से खनन करके बालू और मौरंग निकालते रहते हैं। इसका असर यह हुआ है कि केन और बेतवा नदी में खुदाई से बड़े-बड़े पोखर होने से धारा रुक गई है, या फिर ट्रकों की आवाजाही के लिए बनाए गए अवैध...

  • हर्बल घोल की गंध से खेतों के पास नहीं फटकेंगी नीलगाय , ये 10 तरीके भी आजमा सकते हैं किसान

    इन दिनों खेती करना छुट्टा जानवरों के चलते बहुत मुश्किल हो गया है। देखते ही देखते छुट्टा गाय और नीलगाय के झुंड़ पूरा का का पूरा खेत चर जाती हैं। तार लगवाना महंगा सौदा है, ऐसे में कुछ कृषि जानकारों ने ये 10 उपाय बताएं हैं..उत्तर प्रदेश में बाराबंकी से लेकर बुंदेलखंड तक लगभग हर जिले के किसान...

  • बुंदेलखंड में उद्यमियों के लिए प्रदेश सरकार ने खोला खजाना

    लखनऊ/बुंदेलखंड। बुंदेलखंड में औद्योगिक विकास के लिए राज्य सरकार उद्यमियों को रियायती दर पर जमीन उपलब्ध कराएगी। यह घोषणा प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने बुंदेलखंड चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री व टीम इनोवेशन के प्रतिनिधियों के साथ हुई एक बैठक में की।इनोवेशन टीम के निदेशक सचिन...

  • क्या आप जानते हैं कितनी तरह की हैं आल्हा की कहानियां

    हम सभी ने कभी न कभी आल्हा जरूर सुना होगा, जिसकी शुरूआत बुंदेलखंड के महोबा में हुई थी, लेकिन कम ही लोग जानते होंगे की आल्हा के पचास से अधिक भाग हैं। आल्हा लोकगीत की एक विधा है, जिसकी शुरूआत बुंदेलखंड के महोबा में हुई थी, आल्हा व उदल महोबा के राजा परमाल के सेनापति थे। बस यही से आल्हा गीत...

  • बुंदेलखंड: पानी बचाकर ये गाँव बन गया जलग्राम

    जब देशभर से पानी की किल्लत की ख़बरें आ रही हैं, मुझे 2016 में की बुंदेलखंड में 1000 घंटे सीरीज के दौरान की गई ये ख़बर याद आ रही है.. एक गांव की कहानी जो उदाहरण बन सकता है। जखनी (बांदा)। पचास हजार से ज्यादा तालाबों वाले बुंदेलखंड में ज्यादातर तालाब सूखे है। भूगर्भ का जलस्तर सैकड़ों फीट नीचे चला...

  • डकैत ददुआ से लोहा लेने वाली ‘पाठा की शेरनी’ बेरोजगारी से हार रही...

    स्वयं प्रोजेक्ट डेस्कचित्रकूट। ददुआ जो बोलता था, वह चित्रकूट के लोग करते थे। चंबल के इस खूंखार डकैत के खिलाफ बोलने की हिम्मत किसी में नहीं थी, लेकिन इसी इलाके की रामलली (50 वर्ष) ने ददुआ के खिलाफ आवाज ही नहीं उठाई, बल्कि उसके खिलाफ विद्रोह भी किया। लेकिन आज रामलली चित्रकूट छोड़ना चाहती हैं। वजह...

  • इन्हीं तालाबों में ज़िंदा है बुंदेलखंड का भविष्य

    गाँव कनेक्शन ने वर्ष 2016 में “बुंदेलखंड में 1000 घंटे वो कहानियां जो कही नहीं गईं” शीर्षक नाम से एक सीरीज चलाई थी इसी सीरीज की एक खबर जो हमारे मुख्य संवाददाता अरविंद शुक्ला ने बंदेलखंड में पानी की समस्या और तालाबों पर की गई खबर प्रकाशित की गई थी। नोट- संभव है कि अभी वर्तमान में वहां के हालात और...

  • बुंदेलखंड से एक किसान की प्रेरणादायक कहानी, इंट्रीग्रेडेट फॉमिंग और लाखों की कमाई

    बांदा (उत्तर प्रदेश)। बुंदेलखड में रहने वाला कोई किसान खेती-किसानी से 10-15 लाख रुपए सालाना कमाता होगा, ये सोचना थोड़ा मुश्किल है। लेकिन कुछ किसान हैं जो सूखी धरती पर अपने ज्ञान और अनुभव के सहारे तरक्की की फसल उगा रहे हैं। ये किसान न सिर्फ खुद खेती से कमाई कर अपना नाम रोशन कर रहे हैं बल्कि हजारों...

Share it
Share it
Share it
Top