आलू की रेसिपी: जाने कैसे बनाएं स्लाइस्ट पोटेटो और ग्रीन चटनी

आलू की रेसिपी: जाने कैसे बनाएं स्लाइस्ट पोटेटो और ग्रीन चटनीसेहत की रसोई यानि बेहतर सेहत आपके बिल्कुल करीब।

सेहत की रसोई कॉलम में हम अपने पाठकों के लिए लेकर आते हैं एक से बढ़कर एक पारंपरिक व्यंजनों से जुड़ी कई नायाब जानकारियां और इन व्यंजनों के औषधीय गुणों की जानकारी देते हैं, हमारे “हर्बल आचार्य” डॉ दीपक आचार्य, सेहत और किचन का तड़का हर सप्ताह एक खास व्यंजन के साथ हम परोसते हैं, अपने सभी पाठकों के लिए।

सेहत की रसोई यानि बेहतर सेहत आपके बिल्कुल करीब। हमारे बुजुर्गों का हमेशा मानना रहा है कि सेहत दुरुस्ती के सबसे अच्छे उपाय हमारी रसोई में ही होते हैं। इस कॉलम के जरिये हमारा प्रयास है कि आपको आपकी किचन में ही सेहतमंद बने रहने के व्यंजन से रूबरू करवाया जाए। सेहत की रसोई में इस सप्ताह हमारे मास्टरशेफ भैरव सिंह राजपूत पाठकों के लिए ला रहे हैं “स्लाइस्ट पोटेटो और ग्रीन चटनी” नामक एक खास रेसिपी।

सेहत से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

आवश्यक सामग्री दो व्यक्तियों के लिए

  • बड़े आकार के आलू- चार
  • चाट मसाला- स्वादानुसार
  • काली मिर्च- चुटकी भर
  • पुदीना पत्तियां- 4-5
  • पानी- आधा लीटर
  • वनस्पति तेल- 2-3 छोटी चम्मच
  • हरी चटनी के लिए आवाश्यक सामग्री
  • हरी मिर्च- 3-4
  • हरी धनिया- 10 ग्राम
  • नमक- स्वादानुसार

विधि

आलूओं को एक बर्तन में पानी लेकर अधकचा उबाल लिया जाए, ये ध्यान रखा जाए कि आलू बहुत ज्यादा ज्यादा उबलें नहीं। बाद में इन्हें ठंडा होने दिया जाए और फिर इनके छिलके उतार लिए जाएं। चाकू की मदद से इन अधपके आलूओं के स्लाइस तैयार करें। एक तवे को गर्म करें, इस पर वनस्पति तेल डालें और थोड़ा गर्म होने दें। तेल गर्म हो जाए तो तवे पर अधपके आलू की स्लाइस को एक एक करके रोस्ट कर लें। आलू की दोनों सतहों का रंग जब हल्का लाल या भूरे रंग को हो जाए तो स्लाइस को प्लेट्स में स्थानांतरित कर दें। इस पर चाट मसाला और काली मिर्च डालें, पुदीना की पत्तियों से गार्निश कर लें और फिर इस गर्मागर्म खाएं, आनंद आ जाएगा। ये रेसिपी जितनी आसान तैयार करने के लिए है उतनी ही सेहत के मायनों से खास भी है। हरी चटनी बनाने के लिए हरी मिर्च और हरी धनिया को मिक्सर में ग्राइंड कर लें, इसमें स्वादानुसार नमक भी मिला दें, हो जाएगी तैयार तीखी हरी चटनी।

क्या कहते हैं हमारे हर्बल आचार्य

ये एक तरह का फास्ट फूड भी है। उबले आलूओं पर हल्का सा नमक छिड़क दिया जाए और उस व्यक्ति को दिया जाए जो वजन कम करना चाहता है। आदिवासियों के अनुसार ये गलत बात है कि आलू को मोटापा बढाने में मदद करने वाला कंद माना जाता है।

वजन आलूओं की वजह से नहीं बढ़ता बल्कि आलू को तलने के लिए इस्तमाल में लाए जाने वाले तेल, घी आदि आलू को बदनाम कर जाते हैं। कच्चे आलू या आलू जिन्हें तेल, घी आदि के बगैर पकाया जाए, खाद्य पदार्थ के तौर पर इस्तेमाल किए जा सकते हैं और इनकी मदद से वजन भी कम किया जा सकता है क्योंकि इनमें कैलोरी के नाम पर कुछ खास नहीं होता है। हरी चटनी जबर्दस्ट एंटी ऑक्सीडेंट होती है, इसमें आयरन के अलावा विटामिन सी भी मिलेगा। कुल मिलाकर सेहत के साथ स्वाद के इस रोचक संगम को खूब मजे से खाएं, बगैर मोटापे की चिंता किए।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top