त्वचा पर बार-बार दाने दिखें तो संभव है एलर्जी

त्वचा पर बार-बार दाने दिखें तो संभव है एलर्जी

लखनऊ। त्वचा पर दाने, चकत्ते, सूजन, जीभ और गले में झनझनाहट तो सबको कभी न कभी होता ही है, लेकिन ऐसे लक्षण अगर अक्सर दिखाई दे रहे हैं तो आपको, एलर्जी हो सकती है। 

अगर आपकी त्वचा पर दाने, चकत्ते या सूजन जैसे लक्षण बार-बार दिखाई दे रहे हैं, तो यह आपको किसी चीज से एलर्जी होने के संकेत दे रहे होते हैं। हां, बिना टेस्ट किए एलर्जी की पुष्टि नहीं की जा सकती है क्योंकि ऐसे लक्षण कई अन्य दूसरे कारणों से भी हो सकते हैं। किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के बायोकैमेस्ट्री विभाग के इम्यूनोलॉजिस्ट डॉ ज्ञानेन्द्र सोनकर ने बताया।

चिकित्सा विज्ञान में इम्यूनोलॉजी में शरीर के रोग प्रतिरोधी प्रणाली के बारे में कार्य किया जाता है। 

एलर्जी के बारे में जानकारी देते हुए डॉ. सोनकर बताते हैं, एलर्जी असल में शरीर की रोग प्रतिरोधी प्रणाली की प्रक्रिया होती है, जिसमें वह किसी प्रदूषण, खाद्य पद्धार्थ, पहनने की वस्तुएं, जानवरों के बाल या धूल जैसी चीजों को अस्वीकार करने पर देता है। एलर्जी किसी को भी हो सकती है, अलग-अलग लोगों को अलग-अलग चीजों से एलर्जी होती है, जो उनकी शरीर की रोग प्रतिरोधी प्रणाली, अनुवांशिकी और जैविक बनावट पर निर्भर करती है। 

अगर आपको एलर्जी है और यह पता है कि किस चीज से एलर्जी है तो बचाव ही इसका सबसे अच्छा तरीका है। कई लोगों को पता नहीं होता है कि उन्हें किस चीज से एलर्जी है, ऐसे में पीड़ित व्यक्ति को इसकी जांच करा इसका पता शीघ्र लगाना चाहिए। कई एलर्जी ऐसी होती हैं जिसका असर दवाईयों से कम किया जा सकता है। इसमें अस्थमा जैसी बीमारियां शामिल हैं। 

कुछ बातों का ध्यान रख सामान्य ढंग से कोई भी व्यक्ति, उसको एलर्जी है या नहीं इसका पता लगा सकता है। 

एलर्जी के लक्षण किसी विशेष समय, किसी विशेष खान-पान, पहनने की चीजों, बगीचे, जानवरों के सम्पर्क में आने के बाद बार-बार दिखाई देते हैं तो संभावना है कि आपको एलर्जी हो सकती है। लेकिन यह जरूरी नहीं है कि यह एलर्जी के लक्षण हों यह शरीर में किसी अन्य कारण से भी दिखाई दे सकते हैं इसलिए आप खुद से तय न करें कि आपको एलर्जी है या नहीं डॉक्टर के पास जाएं और दिखलाएं। 

किसी को एलर्जी है या नहीं इसका पता लगाने का सबसे बढिय़ा तरीका 'आईजीई टेस्ट' करवाना होता है। किसी विशेष चीज से एलर्जी का पता लगाने के लिए आपको इसके लिए डॉक्टर से सलाह मशविरा करना पड़ेगा, जिसके बाद कुछ अन्य टेस्ट से यह साफ हो पाएगा कि किस विशेष चीज से आपको एलर्जी है। एलर्जी को चिकित्सकीय भाषा में 'हाईपरसेंस्टीविटी' कहते हैं। 

ऐसे भी हो सकती है एलर्जी

कई बार अगर लोगों को खून चढ़ाते हुए पहले खून को मिलाने की जांच नहीं की है, तो एलर्जी हो सकती हैं। इसके अलावा अंग प्रत्यारोपण में भी एलर्जी देखी जाती है। इसे चार तरह की श्रेणी में बांटा गया है।

टाइप-1 : इस एलर्जी में प्रतिकूल चीजें को खाने या संपर्क में आते ही आपका शरीर प्रतिक्रिया करने लगता है। 

टाइप-2 व टाइप 3 :  इनमें शरीर कुछ देर बाद प्रतिक्रिया देता है और लक्षण कुछ समय बाद दिखाई देता है। 

टाइप-4 : यह एलर्जी अंग प्रत्यारोपण से होती है।

Tags:    India 
Share it
Share it
Share it
Top