सेहत की रसोई

सेहत की रसोईgaonconnection

सेहत की रसोई में हम पाठकों को बताएंगे पारंपरिक व्यंजनों से जुड़ी कई नायाब जानकारियां और इन व्यंजनों के गुणों की भी जानकारी देंगे मास्टर शेफ भैरव सिंह राजपूत।

सेहत और किचन का तड़का हर सप्ताह एक खास व्यंजन के साथ हम परोसेंगे। इस बार हमारे पाठकों के लिए ला रहे हैं दो बेहतरीन ड्रिंक्स। अर्जुन छाल का शर्बत और दिमाग की खुराक के लिए एक नायाब पेय की जानकारी देंगे और इन दोनों रेसिपी के औषधीय गुणों की वकालत करेंगे हमारे अपने हर्बल आचार्य यानि डॉ दीपक आचार्य-

अर्जुन की छाल का शर्बत

सामग्री:-

अर्जुन छाल, मिश्री और मिट्टी का बर्तन

विधि:-

ताजा अर्जुन छाल करीब 15 ग्राम लिया जाए और इसे साफ पानी से धो लिया जाए ताकि इस पर किसी तरह की धूल या गन्दगी ना चिपकी रहे। इस छाल को कूटकर थोड़ा महीन बना लिया जाए। करीब 200 मिली पानी में इस कुचली छाल को किसी मिट्टी के बर्तन में रात भर डुबोकर रखा जाए। सुबह अर्जुन की छाल का पानी हल्का लाल रंग का हो जाएगा। इसे छान लें और करीब 20 ग्राम मिश्री मिलाकर अच्छी तरह घोंट लिया जाए। बस तैयार हो गया स्वादिष्ठ अर्जुन की छाल का शर्बत। ये शर्बत किसी भी उम्र के व्यक्ति को दिया जा सकता है।

दिमाग की ख़ुराक

सामग्री:-

जायफल के दो फलों का चूर्ण, 100 ग्राम बादाम चूर्ण, 40 ग्राम अश्वगंधा पाउडर, 20 ग्राम मुलेठी चूर्ण, 40 ग्राम शंखपुष्पी, 120 ग्राम गुड़

विधि:-

मुलेठी और बादाम चूर्ण लेकर 2 से 3 मिनट इन्हें सेंक लीजिए। इसे ठंडा होने के लिए एक किनारे रख दीजिए। जब ये ठंडा हो जाए तो इसमें जायफल, अश्वगंधा और शंखपुष्पी भी मिला दीजिए। गुड़  बारीक पीस लें और इसे भी मिला लिया जाए। सारे मिश्रण को अच्छे से मिलाकर एयर टाइट कॉन्टेनेर या बर्तन में रख दें। रोज एक चम्मच मिश्रण लेकर एक गिलास दूध में मिलाकर रोज पीएं। स्वाद से भरपूर ये दूध आपकी सेहत का भी ख़्याल रखेगा।

Tags:    India 
Share it
Top