सेहत की रसोई : जानें कैसे बनाएं मसाला चाय

सेहत की रसोई : जानें कैसे बनाएं मसाला चायgaon connection

ये एक ऐसा कॉलम है जिसमें हम आपकी रसोई और स्वाद को बेहतर करने के लिए एक से बढ़कर एक स्वादिष्ट रेसिपी की

जानकारी परोसते हैं। हमारे मास्टरशेफ भैरव सिंह की बताई रेसिपी के गुणों की वकालत हमारे हर्बल आचार्य डॉ दीपक आचार्य करते हैं। सेहत और किचन के तड़के को ध्यान में रखकर सेहत की रसोई कॉलम आप तक पहुंचाया जाता है। हमारे दोनों एक्सपर्ट्स का मानना है कि आपकी सेहत को दुरुस्त रखने के सारे उपाय आपकी रसोई में ही उपलब्ध हैं। सेहत की रसोई यानि बेहतर सेहत आपके बिल्कुल करीब। इस कॉलम के ज़रिये हमारा प्रयास है कि आपको आपकी किचन में ही सेहतमंद बने रहने के व्यंजन से रूबरू करवाया जाए। सेहत की रसोई में इस सप्ताह मास्टरशेफ हमारे पाठकों के लिए ला रहे हैं एक पारंपरिक पेय ‘मसाला चाय’

मसाला चाय

आवश्यक सामग्री (तीन से चार व्यक्तियों के लिए)

  • दूध- 150 मि.ली.=पानी- 100 मि.ली.
  • चायपत्ती- 2 चम्मच=शक्कर- 2 चम्मच
  • केसर- चुटकी भर=जायफल का चूर्ण- आधा चम्मच
  • कद्दूकस अदरक- एक चम्मच=पुदीना की पत्तियां- 10

विधि

पानी को गर्म किया जाए और उबलते पानी में कद्दूकस अदरक और जायफल का चूर्ण डाल दिया जाए। करीब एक मिनिट तक इसे खौलने दें और फिर इसमें चायपत्ती डाल दें और दूध भी धीमे धीमे डाल दें। मध्यम आंच पर इसे उबलने दें और फिर इसमें शक्कर और केसर भी डाल दें और थोड़ी देर और उबलने दें। अंत में इसमें पुदीना की पत्तियाँ डाल दें और बर्तन को आंच से उतार लें। इसे छानकर गर्मा गर्म परोस दें। मानसून की शुरुआत है, ये चाय आपको तरोताज़ा महसूस करा देगी और रही बात इसके गुणों की, वो हमारे हर्बल एक्सपर्ट डॉ आचार्य आपको बता ही देंगे।

क्या कहते हैं हमारे हर्बल आचार्य

सभी प्रकार के जोड़ों की समस्याओं में रात्रि में सोने से करीब १ घंटे पहले इस चाय का सेवन जरूर करें। स्लिपडिस्क या लम्बेगो में भी मसाला चाय काफी असर करती है। गैस और कब्जियत में भी इस चाय को काफी लाभदायक माना जाता है। अब मानसून दस्तक दे चुका है, सूक्ष्मजीवी संक्रमण की समस्या ज़्यादा होगी, इस चाय के सेवन से इन पर काबू पाने में काफी मदद मिलेगी। अदरक, केसर, पुदीना, जायफल के गुणों की बातें तो अक्सर करता ही रहता हूँ, अब जरा इनके संगम को भी आजमाकर देख लें, आनंद आएगा।

Tags:    India 
Share it
Top