खुलासा : कस्तूरबा गांधी विद्यालय में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़

खुलासा : कस्तूरबा गांधी विद्यालय में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़KGB (प्रतीकात्मक फ़ोटो) 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के हरदोई जनपद में कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालयों में यौन उत्पीड़न का मामला प्रकाश में आने पर शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया। जिले के शाहाबाद क्षेत्र की केजीबी विद्यालय में छात्राओं को जल्द मोटी रकम कमाने का लालच देकर सेक्स धंधे में ढकेला जा रहा था।

ये भी पढ़ें- कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय की छात्राएं पानी के लिए भटकने को मजबूर

वहीं दूसरी ओर हरदोई जनपद के ही बेनीगंज क्षेत्र में भी एक अन्य कस्तूरबा गांधी विद्यालय में चल रहे सेक्स रैकेट का भांडाफोड़ हुआ है। इस मामले में एक अंशकालीन अध्यापक और सहायक रसोइया की करतूत के खुलासे के बाद डीएम ने घटना का संज्ञान लेते हुए एफआईआर दर्ज कराने के आदेश दिए हैं। जब कि बेनीगंज में खंड शिक्षा अधिकारी ने मुकदमा दर्ज कराया है।

शिक्षा से जुड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

मामले का खुलासा होते ही जब प्रशासन की किरकिरी शुरू हुई तो, आनन-फानन में आलाधिकारियों ने मुकदमा दर्ज कराकर अपना पल्ला झाड़ने की कोशिश की है।

मुकदमा खंड शिक्षा अधिकारी मनोज कुमार बोस की तरफ से दर्ज कराया गया है। शाहाबाद कोतवाली में दर्ज कराई गई इस रिपोर्ट में कहा गया है कि, केजीबी में सहायक रसोइया धनदेवी के साथ दो अन्य लोगों के द्वारा छात्राओं को प्रलोभन देकर देह व्यापार के धंधे में ढकेलने का काम काफी लंबे से किया जा रहा था। मुकदमें में कहा गया है कि, इसी सिलसिले में छुटटी के दिन छात्राओं के घर जाकर खुद को युवक अध्यापक बताता था। टीचर बताकर जन्मदिन का हवाला देकर छात्राओं को बुलाकर बंधक बनाकर दुष्कर्म व मोबाइल में अश्लील क्लिप बनाने आदि के आरोप हैं।

ये भी पढ़ें- पढ़ाई के साथ अभिनय सीख रहीं कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय की लड़कियां

वहीं खंड शिक्षा अधिकारी कोथांवा विश्वनाथ पाठक ने बेनीगंज कोतवाली में लिखाई गयी रिपोर्ट में कहा है कि, केजीबी बेनीगंज के पार्ट टाइम शिक्षक ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी द्वारा अश्लील वीडियो क्लिप बनाकर छात्राओं के साथ यौन शोषण किया जाता था। इस घटना से पूरे शिक्षा व्यवस्था पर सवालियां निशान खड़ा कर दिया है।

वहीं इस मामले में हरदोई के एसपी का कहना है कि, पूरे प्रकरण की जांच करवाई जा रही है और पीड़ित छात्राओं को मेडिकल परिक्षण के लिए भेज दिया गया है। इसके बाद आरोपियों की धर-पकड़ के लिए एक टीम गठित कर दी गई, दोषियों को जल्द गिरफ्तार कर पूरे गौरखधंधे के ऊपर से पर्दा उठाया जाएगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

First Published: 2017-06-05 19:48:48.0

Share it
Share it
Share it
Top