शेरनी तपस्या की मौत के बाद पटौदी व जैसिका भी संक्रमित

शेरनी तपस्या की मौत के बाद पटौदी व जैसिका भी संक्रमितगाँव कनेक्शन

इटावा। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट में शुमार लॉयन सफारी में अचानक फैले संक्रमण से शेरनी तपस्या की मृत्यु के बाद लॉयन सफारी प्रशासन सतर्क हो गया है। शेरों को हिफाज़त से रखने के लिए विशेषज्ञों की देखरेख के बावजूद सफारी के बब्बर शेर खतरनाक संक्रमण की चपेट में हैं। 

पहले ही शेर का जोड़ा खो चुके लॉयन सफारी के प्रशासकों को जब इन शेरों के नन्हे शावकों से बढ़ने की उम्मीद नजर आई थी तो सफारी की मादा शेरनियां संक्रमण की चपेट में हैं। बीते दिनों संक्रमण के कारण तपस्या नामक शेरनी ने दम तोड़ दिया था।

लॉयन सफारी में तेजी से फैल रहे संक्रमण को रोकने के लिए लॉयन सफारी के निदेशक एवं वन संरक्षक संजय श्रीवास्तव ने गाँव कनेक्शन को बताया, '' तपस्या के मौत के बाद उसके साथ लाए गए बब्बर शेर पटौदी व शेरनी जैसिका भी संक्रमित पाए गए हैं। इनके ब्लड सैंपल को जांच के लिए बरेली के आईवीआरआई में भेजा गया, जिसकी जांच में दोनों को बबैसिया नामक खून के संक्रमण से ग्रस्त पाया गया है।’’

तपस्या की मौत ने समूचे लॉयन सफारी के अफसरों सहित मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपनी निराशा जताई थी। ऐसे में शेरों में फैल रहे इस संक्रमण को रोकने के लिए सफारी प्रशासन ग्रेट ब्रिटेन के लौंगलीट सफारी के विशेषज्ञों से भी चिकित्सीय मदद ले रहा है। 

''लॉयन सफारी में बचे हुए जोड़ों को संक्रमण मुक्त कराने के लिए उन्हें मथुरा के पंडित दीन दयाल उपाध्याय पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय व कानपुर प्राणी उद्यान के पशु चिकित्सकों की टीम की देखरख में रखा गया है।’’

बब्बर शेरों के बचे हुई जोड़ी को बचाने के लिए सफारी प्रशासन लगातार 24 घंटे निगरानी कर रहा है और चिकित्सीय सहयोग के लिए विदेशों की लॉयन सफारी के विशेषज्ञों से भी लगातार संपर्क किया जा रहा है।

रिपोर्टर - मसूद तैमूरी

Tags:    India 
Share it
Top