शिक्षकों की मनमानी से वक्त पर नहीं खुल रहें हैं स्कूल

शिक्षकों की मनमानी से वक्त पर नहीं खुल रहें हैं स्कूलgaonconnection

निंदूरा (बाराबंकी)। सरकारी स्कूलों में दाखिलें बढ़ें इसके लिए सरकारें हर वर्ष करोड़ों रुपए खर्च करती हैं, लेकिन कई जगह स्कूल में तैनात शिक्षक ही सर्वशिक्षा अभियान को पलीता लगा रहे हैं।

निंदूरा ब्लॉक के चंदौली ग्राम में स्थित प्राथमिक विद्यालय शिक्षकों की मनमानी के चलते बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ हो रहा है। निंदूरा के चंदौली प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापिका, सहायक अध्यापक, व अनुदेशक समेत कुल आठ लोगों का स्टाफ है और यहां 105 बच्चे पंजीकृत भी हैं। लेकिन स्कूल खुलने का कोई टाइम नहीं है।

गाँव के लोगों का कहना है मास्टरों का जब मन होता है स्कूल खोलते हैं। स्थानीय लोगों की शिकायत पर गाँव कनेक्शन संवाददाता मौके पर पहुंचा तो सवा आठ बजे स्कूल में ताला अटका था। सिर्फ दो अनुदेशक और कई बच्चे मौजूद थे, जो शिक्षकों का इंतजार कर रहे थे। 

ग्राम प्रधान चंद्रशेखर वर्मा और मौजूद रसोइयों ने भी विद्यालय खुलने की पुष्टि की। हालांकि इस बारे में बात करने पर प्रधानाचार्य कुमुद श्रीवास्तव ने स्कूल देर से खुलने के आरोपों से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा गाँव के ही कुछ लोग हैं तो आधारहीन शिकायत करते रहते हैं।  हालांकि बीएसए बाराबंकी ने कहा, “मामले की जानकारी नहीं है, लेकिन अगर स्कूल वक्त पर नहीं खुल रहा है तो इसकी जांच करवाई जाएगी।”

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top