सीएम अखिलेश का अधिकारी बनकर ठगे 40 लाख, गिरफ्तार हुआ

सीएम अखिलेश का अधिकारी बनकर ठगे 40 लाख, गिरफ्तार हुआgaonconnection

बुलन्दशहर (भाषा)। उत्तर प्रदेश के खुर्जा नगर पालिका के चेयरमेन से मुख्यमंत्री का फर्जी ओएसडी बनकर चालीस लाख रुपये ठगने वाले जीजा-साले सहित छह लोगों को बुलन्दशहर जिले की स्वाट टीम व खुर्जा नगर पुलिस ने गिरफ्तार कर 14.41 लाख रुपये नकद व सात लाख की एफडी बरामद की है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने बताया कि इस ठगी का मुख्य अभिुयक्त हनीफ उर्फ आलमगीर (इटावा) ने मुख्यमंत्री का ओएसडी बनकर 20 जून को मोबाइल पर खुर्जा के चेयरमेन रफीक फड्डा से उसकी अल्तमस फ्रोजन फूड की प्रदूषण नियंत्रण बोर्डं लखनऊ में चल रही फाइल को निकलवाने के एवज में 40 लाख रुपये पार्टी फण्ड में जमा करने का कहा तथा बैंक के खातों के नंबर दिये। 

खुर्जा के चेयरमेन ने उसी दिये गये खाते में दो बार में 40 लाख रुपये जमा करवा दिये। लेकिन चेमरमेन ने हनीफ के नंबर पर फोन किया तो वह बन्द मिला।

कृष्ण ने बताया कि चेयरमेन रफीक फड्डा ने 30 जून को खुर्जा कोतवाली में अज्ञात के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकद्मा दर्ज कराया उसी आधार पर पुलिस ने मोबाईल नंबर के सिम कार्डों की जांच के आधार पर छह लोगों को गिरफ्तार किया। गिरोह का सरगना हनीफ इटावा में दुकान करता है, जबकि उसका बहनोई इस्लाम आगरा में मजदूरी करता है। इसके अलावा मुर्शरफ बेग, रईस, आसिफ व हरिओम शर्मा को गिरफ्तार किया। हरिओम शर्मा एक बैंक से सेवानिवृत्त बताया जाता है, जिसकी मदद से बैंक में फर्जी तरीके से खाते खोले गये।

एसएसपी ने बताया कि गैंग का लीडर हनीफ उर्फ आलमगीर इससे पूर्व में भी मुख्यमंत्री ओएसडी बनकर ठगी कर चुका है, जिसके विभिन्न जनपदों में अभियोग पंजीकृत हैं।

पुलिस ने फर्जी आईडी पर सिम बेचने वाले आगरा के सुमित अग्रवाल व अजय को भी गिरफ्तार किया है। पुलिस महानिदेशक द्वारा मामले का पता लगाने वाली टीम को 25 हजार रुपये तथा उनके स्तर पर पांच हजार से पुरस्कृत किया जा रहा है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top