समय आ गया है कि भारत और अमेरिका मिलकर दुनिया के लिए काम करें: मोदी

समय आ गया है कि भारत और अमेरिका मिलकर दुनिया के लिए काम करें: मोदीgaonconnection

वाशिंगटन (भाषा)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि आपसी लाभों के लिए काम करने से आगे बढ़ते हुए भारत और अमेरिका के संबंध अब एक नए दौर में प्रवेश कर गए हैं और अब समय आ गया है कि ये दोनों देश दुनियाकी बेहतरी के लिए एकसाथ मिलकर काम करना शुरु कर दें।

सीनेट और सदन की विदेश मामलों की समिति द्वारा दो चैंबरों में इंडिया कॉकस के साथ मिलकर प्रधानमंत्री के सम्मान में कल दिए गए कांग्रेशनल समारोह में मोदी ने कहा, ‘‘मैं हमेशा चाहूंगा कि भारत और अमेरिका एकसाथ आएं, करीब आएं, मजबूत बनें और अपने साझा मूल्यों के जरिए दुनिया के लाभ के लिए कुछ करें।'' मोदी ने कहा कि भारत और अमेरिका का संबंध अब एक नए चरण में प्रवेश कर गया है, जिसमें दोनों देश आपसी हित के लिए काम करने के दौर से कहीं आगे बढ़ गए हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हम एक नए दौर में प्रवेश कर गए हैं, जहां हम यह नहीं सोचते कि हम अमेरिका से क्या हासिल कर सकते हैं या अमेरिका हमसे क्या हासिल कर सकता है। हम अब उससे आगे बढ़ गए हैं। इस समय हम यह सोच रहे हैं कि अमेरिका और भारत दुनिया की बेहतरी के लिए एकसाथ मिलकर कैसे काम कर सकते हैं।

मोदी ने कहा कि मुद्दा जलवायु परिवर्तन का हो या फिर आतंकवाद, गरीबी और स्वास्थ्य क्षेत्र का, भारत और अमेरिका एकसाथ मिलकर दुनिया के लाभ के लिए काम कर सकते हैं। अमेरिका के शीर्ष सांसदों और भारतीय-अमेरिकी समुदाय के चुनिंदा सदस्यों की मौजूदगी वाले इस समारोह में मोदी ने कहा, ‘‘हम इस प्रतिबद्धता के साथ आगे बढ़ रहे हैं। यह मेरी दो दिवसीय अमेरिका यात्रा के दौरान और अधिक मजबूत हुआ है।''    

उन्होंने कहा, ‘‘समय आ गया है कि हमारे संबंध को कूटनीति से आगे ले जाया जाए। यह इससे कहीं आगे जा रहा है। मैं समझता हूं कि हम एकसाथ मिल सकते हैं, जहां दो बडे लोकतंत्र अमेरिका और भारत एकसाथ मिलकर दुनिया के लिए बहुत कुछ कर सकते हैं। मैं इस प्रतिबद्धता को महसूस कर रहा हूं।'' मोदी ने दिन में पहले कहा था कि उन्हें कांग्रेस को संबोधित करने का जो अवसर मिला, वह उसे एक बड़ा सम्मान मानते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘यह मेरे लिए सिर्फ एक निजी सम्मान नहीं है, न ही सिर्फ किसी देश के प्रधानमंत्री के लिए। यह सम्मान उस देश का प्रतिनिधित्व करने वाले सवा अरब लोगों के लिए है, जो मानवता का अपार सम्मान करता है और जो वसुधैव कुटुंबकम के दर्शन में यकीन रखता है। इसका अर्थ है कि संपूर्ण विश्व एक गाँव है।''

Tags:    India 
Share it
Top