Top

सन्देश वाहिनी से ग्रामीण महिलाओं को जागरुक करने का प्रयास

सन्देश वाहिनी से ग्रामीण महिलाओं को जागरुक करने का प्रयासgaonconnection

लखनऊ। स्वास्थ्य के प्रचार-प्रसार के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने संदेश वाहिनी वाहन को अपनाया है। संदेश वाहिनी सभी ब्लॉक पर रहेगी और वहां के गँवों में जाकर शासन की स्वास्थ योजनाओं का वीडियो-आडियो के माध्यम से प्रचार करेगी। 

सेहत वाहिनी अब तक 16 हजार गाँवों में प्रचार-प्रसार का कार्य कर चूकी है। इसमें आशा बहू और एएनएम को पहले सूचना दी जाती है। गाँव के सभी महिलाओं को एकत्र करना और उन्हे जानकारी देने के लिए कार्य करती है। जो ग्रामीण महिलाए जानकारी के लिए प्रश्र करती है उन्हे उपहार भी दिया जाता है। 

सिफ्सा अधिशासी निदेशक आलोक कुमार बताते है कि प्रदेश के सभी जिलों में संदेश वाहन के द्वारा सूचना दी जा रही है। स्वास्थ्य संबधी जानकारी के प्रचार-प्रसार के लिए संदेश वाहिनी सशक्त माध्यम है। संदेश वाहिनी के जारीए ग्रामीण महिलाओं को जागरूक और जानकारी दी जाती है। 

मातृ और शिशु की मृत्यु दरों में कमी के साथ-साथ जन जागरूकता के लिए यह अभियान चलाया जा रहा है। संदेश वाहिनी के कार्यों का सम्बन्धित क्षेत्र के मेडिकल आफीसर पर्यवेक्षण करेगे। प्रत्येक ब्लाक के 20 गाँवो में यह सेहत संदेश वाहिनी जायेगी। हर वाहन में एक काउन्सलर, एक आपरेटर होगा। काउन्सलर लोगों से वार्ताकर उनसे सवाल-जवाब करेगा।

सेहत संदेश वाहिनी के द्वारा जननी सुरक्षा योजना, शिशु सुरक्षा योजना, महिला सशक्तीकरण, नियमित टीकाकरण, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ, हौसला, अरवन एव ग्रामीण हेल्थ मिशन कार्यक्रम, एम्बुलैस 102 और 108 योजना आदि के बारे में विस्तार से वीडियो के माध्यम से प्रदर्शित की जायेगी। आमजन को मुफ्त चिकित्सा, मुफ्त जांचे, मुफ्त दवाई की शासन की नीति को प्रचार-प्रसार किया जाएगा। कार्यक्रम के दौरान स्वास्थ सेवाओं पर आधारित प्रचार साहित्य भी नि:शुल्क वितरित किया जायेगा।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.