संसद में आर्थिक सर्वेक्षण पेश, 8% विकास दर की उम्मीद

संसद में आर्थिक सर्वेक्षण पेश, 8% विकास दर की उम्मीदgaon connection, गाँव कनेक्शन

गाँव कनेक्शन नेटवर्क

नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संसद में साल 2015-16 का आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया। आर्थिक सर्वेक्षण में सर्विस सेक्टर पर ख़ासा ज़ोर दिया। वित्त मंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में सर्विस सेक्टर रोज़गार के सबसे ज्यादा मौक़े मुहैया कराएगा।

जीडीपी 8% रहने का अनुमान

आम बजट से पहले पेश आर्थिक समीक्षा में बाहरी स्थिति को चुनौतीपूर्ण करार दिया गया। बावजूद इसके अगले वित्त में आर्थिक वृद्धि 7-7.5 प्रतिशत रहने की संभावना है। आर्थिक सर्वेक्षण में कहा गया है कि अगले कुछ साल में जीडीपी विकास दर बढ़कर आठ प्रतिशत तक पहुंच जाएगी।

तेज़ विकास के लक्ष्य को पाना प्राथमिकता

संसद में पेश वित्त वर्ष 2015-16 के आर्थिक सर्वेक्षण में नीति और नियमों में सुधार की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने की जरूरत पर ज़ोर दिया गया है, ताकि घरेलू अर्थव्यवस्था बाहरी अस्थिरता से मुक़ाबला कर सके।

इंफ्रा सेक्टर में पैदा हुए सबसे ज्यादा रोज़गार

आर्थिक सर्वे में कहा गया कि इनफॉर्मल सेक्टर ने रोज़गार के सबसे ज्यादा अवसर मुहैया कराए हैं। इनफॉर्मल सेक्टर का मतलब कंस्ट्रक्शन से जुड़े सेक्टर।

आर्थिक सर्वेक्षण की अहम बातें

-खराब मौसम का अर्थव्यवस्था पर असर नहीं

-मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर में बेहतरी का अनुमान

-अर्थव्यवस्था के बेहतर होने के संकेत

-रोजगार के मौक़े बढ़ने का अनुमान

-2016-17 में विकास दर 7-7.5% रहने का अनुमान

-खुदरा महंगाई दर 4-4.5% रहने का अनुमान 

Tags:    India 
Share it
Top