झूठी खबर: अमृतसर हादसे में ट्रेन चालक ने की आत्महत्या

अमृतसर ट्रेन हादसे में ट्रेन चालक ने आत्महत्या कर ली है। इस खबर की पुष्टि के लिए गाँव कनेक्शन ने अमृतसर के डीसीपी अमरीक सिंह से बात की...

झूठी खबर: अमृतसर हादसे में ट्रेन चालक ने की आत्महत्या

अमृतसर में 19 अक्टूबर को हुए रेल हादसे में दशहरा मेले में आए लगभग 62 लोगों ने अपनी जान गंवा दी। कई फेसबुक पोस्ट और ट्वीट में ये दावा किया जा रहा है कि डीएमयू के लोको पायलट यानी ट्रेन के ड्राइवर ने आत्महत्या कर ली है। सोशल मीडिया में कई लोगों ने दावा किया है कि ट्रेन के ड्राइवर ने हादसे के लिए खुद को कसूरवार मानते हुए खुदकुशी कर ली है। गाँव कनेक्शन ने अमृतसर के डीसीपी अमरीक सिंह से बात की।


लोगों ने इस खबर को फोटो, वीडियो और एक सुसाइड नोट के साथ शेयर किया, जिसमें उन्होंने दावा किया कि ये ड्राइवर ने लिखा था। इस पोस्ट को अलग-अलग सोशल नेटवर्किंग साइटों पर कई लोगों ने शेयर किया है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये बात पूरी तरह फर्जी है।


वीडियो/फोटो में दिख रहा आदमी ट्रेन चालक है यह एकदम गलत है। इस दावे के पीछे कोई सच्चाई नहीं है कि उसने दशहरा हादसे के बाद खुद की जान ले ली। अमृतसर सिटी के डीसीपी अमरीक सिंह ने बताया, "ट्रेन चालक ने हादसे के बाद आत्महत्या कर ली है यह एकदम गलत है। चालक एकदम सुरक्षित है सोशल मीडिया पर सिर्फ झूठी खबरों को फैलाया जा रहा है।"

बोहरु पुलिस थाने के एक सूत्र ने क्विंट को बताया कि शेयर किए जा रहे वीडियो में दिख रहा शख्स हरपाल सिंह है। वो अमृतसर में एक दुकानदार था, जो काम से संबंधित वजहों को लेकर बहुत परेशान था। वह चार साल तक एक दुकानदार रहा था, लेकिन उसका कारोबार घट गया था।

यह हुआ था हादसा

दशहरा के मौके पर पंजाब के अमृतसर पर एक बड़ा हादसा हुआ जिसमें लगभग 60 लोगों के मारे जाने की खबर है और लोगों की हालत नाजुक है। यह हादसा अमृतसर में जोड़ा फाटक के नजदीक हुआ जहां रेलवे ट्रैक के किनारे रावण दहन का कार्यक्रम चल रहा था। इस दौरान वहां हजारों लोग वहा एकत्र हुए थे तभी पटाखों की आवाज आई तो लोग भागने लगे और उन्हें ट्रेन की आवाज नहीं सुनाई दी। इस दौरान आ रही ट्रेन की चपेट में सैकड़ों लोग आ गए।

रात 10 बजे से सुबह छह बजे तक फोन कॉल, एसएमएस, और व्हाट्सऐप से नहीं कर पाएंगे चुनाव प्रचार

Tags:    fake news 
Share it
Top