अनंतनाग हमले के शहीद की बेटी को लिखा डीआईजी का ये ख़त आपको झकझोर देगा...

Anusha MishraAnusha Mishra   30 Aug 2017 5:13 PM GMT

अनंतनाग हमले के शहीद की बेटी को लिखा डीआईजी का ये ख़त आपको झकझोर देगा...ज़ोहरा

‘’आपके आंसुओं ने कई दिलों को हिला कर रख दिया है। आपके पापा ने जो बलिदान दिया उसे हमेशा याद रखा जाएगा। अभी तुम ये समझने के लिए बहुत छोटी हो कि ऐसा क्यों हुआ।’’

जम्मू-कश्मीर/ लखनऊ। सोमवार को कश्मीर के अनंतनाग ज़िले में हुए आतंकी हमले में दक्षिणी कश्मीर पुलिस के असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर (एएसआई) अब्दुल राशिद शहीद हो गए। उनकी शहादत पर रोती उनकी बेटी ज़ोरहा की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। ज़ोहरा की इन तस्वीरों को देखकर किसी की भी आंखों में आंसू आ जाएंगे।

ऐसा ही कुछ दक्षिणी कश्मीर पुलिस के डीआईजी के साथ भी हुआ। जब उन्होंने शहीद अब्दुल राशिद की बेटी ज़ोहरा की रोते हुए फोटो देखी तो वो खुद को रोक नहीं पाए। उन्होंने फेसबुक पर एक ज़ोहरा के लिए एक भावुक पोस्ट लिखा है। उनका लिखा ये पोस्ट भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। उनकी इस पोस्ट के अभी तक एक हज़ार से ज़्यादा शेयर हो चुके हैं।

आप भी पढ़िए ये पोस्ट :

मेरी प्यारी ज़ोहरा,

आपके आंसुओं ने कई दिलों को हिला कर रख दिया है। आपके पापा ने जो बलिदान दिया उसे हमेशा याद रखा जाएगा। अभी तुम ये समझने के लिए बहुत छोटी हो कि ऐसा क्यों हुआ।

ऐसी हिंसा के लिए ज़िम्मेदार लोग जो राज्य और समाज के प्रतीकों पर हमला करते हैं वो वास्तव में पागल हैं मानवता के दुश्मन भी। तुम्हारे पापा की तरह हम सभी उस जम्मू कश्मीर पुलिस बल का प्रतिनिधित्व करते हैं, वीरता और बलिदान जिसकी पहचान है।

समाज और आम नागिरकों की भलाई के लिए कई पुलिसवालों के परिवारों को न जाने कितनी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है और अपूर्णीय आघात से गुजरना पड़ता है। ऐसे सभी पुलिसवाले और उनकी कहानियां एक इतिहास बनाते हैं और हमें इस पर गर्व होता है। हम अपने नायकों को नहीं भूल सकते, जिनके साथ हमने इतने सालों तक काम किया, कई लम्हों को जिया है। इन सभी पुलिस वालों के परिवार जम्मू कश्मीर पुलिस की उस यात्रा का हिस्सा हैं जो उसने समाज की सेवा करते हुए अब तक पूरी की है।

याद रखो कि इस दुख की घड़ी में हम सब एक परिवार हैं। तुम्हारे आंसुओं की हर बूंद हमारा दिल दुखा रही है। ईश्वर हमें शक्ति दे कि हम समाज की बेहतरी के अपने मिशन को पूरा करने के लिए लड़ते रहें। उस वर्दी को पहनते वक्त जिसे हम सर्वोच्च मानते हैं, हमने जो प्रतिज्ञा ली थी हम उसे पूरा कर सकें। हम अपने साथियों और समाज को शांति और सद्भाव का संदेश दे सकें। हम हमेशा एएसआई अब्दुल राशिद को एक सच्चे पुलिसवाले जिसने अपने कर्तव्य के लिए अपनी जान दे दी, के रूप में याद रखेंगे। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।

बहुत सारे आशीर्वाद के साथ

जम्मू कश्मीर पुलिस के सभी अधिकारी और साथी

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top