“मेरे साथ समय बिताने के कितने पैसे लोगी”

Anusha MishraAnusha Mishra   13 Dec 2017 4:27 PM GMT

“मेरे साथ समय बिताने के कितने पैसे लोगी”यौन शोषण

फिल्म 'दंगल' में पहलवान गीता फोगाट का किरदार निभाने वाली ज़ायरा वसीम के साथ एयर विस्तारा की फ्लाइट में हुई छेड़खानी की घटना इस समय मीडिया की सुर्खियां बनी हुई हैं। ट्विटर पर भी ज़ायरा वसीम पिछले दो दिनों से टॉप ट्रेंड में हैं। लोग उन्हें हिम्मत रखने और बहादुर बने रहने की सलाह दे रहे हैं। इस बीच ये देखने में आया कि अब महिलाएं इन मामलों में खुल कर बोलने लगी हैं। हालांकि कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इसे ज़ायरा का पब्लिसिटी स्टंट बता रहे हैं पर बात यहां सिर्फ ज़ायरा वसीम के साथ हुई छेड़छाड़ की नहीं है। ये हाल दुनियाभर की महिलाओं की है।

अमेरिका से लेकर यूरोप और एशिया तक, हर जगह की महिलाएं अपने साथ होने वाली छेड़खानी की घटनाओं और यौन शोषण से परेशान हैं। पर इनमें से कुछ महिलाएं ऐसी हैं जिन्होंने इसके खिलाफ आवाज़ उठाना अब सीख लिया है। सीएनएन वेबसाइट में सोमवार को छपी ख़बर के मुताबिक, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप पर भी रैशेल क्रूक्स नाम की एक महिला ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। जिससे एक बार फिर पिछले महीने सोशल मीडिया पर शुरू हुआ #MeToo ट्रेंड में आ गया। वैसे तो ये हैशटैग पिछले महीने से लगातार ट्रेंड कर रहा है औ हर दिन न जाने कितनी महिलाएं इस हैश टैग के साथ अपनी साथ हुई ऐसी ही घटनाओं को सोशल मीडिया पर बयां कर रही हैं।

यूएस नेशनल सिक्योरिटी की 223 महिलाओं ने की थी शिकायत

हाल ही में अमेरिका की नेशनल सिक्योरिटी में काम करने वाली 223 महिला सैनिकों ने काम के दौरान उनके साथ होने वाली छेड़खानी की शिकायत की थी। अमेरिका की वेबसाइट टाइम ने लिखा कि यूएस नेशनल सिक्योरिटी की 223 महिलाओं ने एक पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं। इस पत्र में उन्होंने लिखा है कि कार्यस्थल पर छेड़छाड़ की घटनाओं और यौन शोषण का शिकार हुई हैं। इस खुले ख़त का टाइटल #metoonatsec है, जो सोशल मीडिया पर अक्टूबर महीने में शुरू हुई 'मीटू' मुहिम के संदर्भ लिया गया है। पत्र में हस्ताक्षरकर्ताओं में जो 223 महिलाएं शामिल हैं वे संयुक्त राज्य अमेरिका की राज्य सरकारों में, ख़ुफिया विभागों, पेंटागन आदि में काम करती हैं।

यह भी पढ़ें : जायरा से छेड़खानी के मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग ने महाराष्ट्र के डीजीपी और विस्तारा को लिखा पत्र

अफगानिस्तान की महिलाएं भी अब आईं सामने

सब कहते हैं कि तुम बदसूरत हो मरयम, लेकिन मुझे लगता है कि तुम वर्जिन हो, तो तुम मेरे साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए कब तैयार हो? तुम मुझे बता देना, मुझे खुशी होगी। ये बात अफगानिस्तान की एक महिला पत्रकार मरयम मेहतर (24 वर्ष) से उनके पुरुष साथी ने कही। अमेरिका की न्यूज़ वेबसाइट न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी ख़बर के मुताबिक, मरयम बताती हैं कि वो उस सुबह इससे पहले ही घर से ऑफिस पहुंचने तक कई बार छेड़खानी का शिकार हो चुकी थीं। एक बार तब जब वो बस का इंतज़ार कर रही थीं, तब एक व्यक्ति ने उन्हें पीछे से पकड़ लिया, एक और व्यक्ति ने उनसे पूछा कि वो उसके साथ समय बिताने के लिए कितने रुपये लेंगी। यही नहीं एक छोटे लड़के ने भी उन पर आपत्तिजनक कमेंट किया। जब वो ऑफिस पहुंची और अपने सिस्टम पर फेसबुक खोला तब उन्हें अपने सहकर्मी का वो मैसेज मिला।

यह भी पढ़ें : सत्तर फीसदी महिलाएं कार्यस्थल पर होने वाले यौन शोषण की शिकायत नहीं करतीं: एनसीडब्ल्यू

अफगानिस्तान में कुछ समय पहले तक महिलाएं अपने साथ होने वाली इस तरह की घटनाओं के बारे में खुलकर नहीं बोल पाती थीं लेकिन अब अमेरिका, यूरोप और एशिया के बाकी हिस्सों की तरह अफगानिस्तान की महिलाएं भी हिम्मत कर रही हैं कि वे इस तरह की घटनाओं के खिलाफ आवाज़ उठा सकें। मरयम बताती हैं कि मेरी ज़्यादातर महिला सहकर्मी इन मुद्दों पर बात नहीं करतीं क्योंकि उन्हें लगेगा कि अगर वो इन घटनाओं के बारे में बात करेंगी तो लोग उन पर ही उंगली उठाएंगे। न्यू यॉर्क टाइम्स से बात करते हुए अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी की सलाहकार शहरज़ाद अकबर बताती हैं कि अपने करियर के शुरुआती दौर में जब वो इंटर्न थीं तब उनका यौन शोषण हुआ था।

अक्टूबर से ट्रेंड में है #MeToo

हॉलीवुड अभिनेता हार्वे वेनिंस्टन पर लगे यौन शोषण के आरोपों की चर्चा दुनिया भर में हुई थी। अमेरिकी अभिनेता हार्वे पर कई अभिनेत्रियों ने यौन हिंसा का आरोप लगाया था और लोगों से अपील की थी कि वे भी आगे आएं और अपने बारे में लिखें। तब से सोशल मीडिया पर एक आंदोलन शुरू हुआ था जिसमें महिलाओं से अपील की गई थी कि वे भी अपने साथ हुए यौन शोषण पर बोलें, सिर्फ दो सरल शब्दों में, और लिखें - #MeToo यानि मैं भी।

यह भी पढ़ें : कांच वाले दफ्तरों में ही नहीं गांवों में महिलाएं कार्यस्थल पर यौन हिंसा का शिकार होती हैं...

इस मुहिम की शुरुआत की थी हॉलीवुड अभिनेत्री एलिसा मिलानो ने। उन्होंने 16 अक्टूबर को एक ट्वीट किया था।, जिसमें उन्होंने लिखा - एक दोस्त के द्वारा प्रस्तावित किया हुआ : अगर सारी महिलाएं यौन शोषण या हिंसा का शिकार हुई हैं तो स्टेटस में लिखें - #MeToo, हो सकता है कि हम लोगों को इस समस्या की भयवहता का अंदाज़ा दिला सकें। अगर आपके साथ भी ऐसा हुआ है तो मेरे ट्वीट के रिप्लाई में भी #MeToo लिखें। एलिसा मिलानो के इस ट्वीट का दुनिया भर के लोगों ने समर्थन किया।

सिर्फ सेलेब्रिटीज ही नहीं दुनिया भर की आम महिलाओं व पुरुषों ने उनकी इस पहल का स्वागत किया और उन्हें रिप्लाई किया। अब तक इस ट्वीट को 25 हज़ार से ज़्यादा बार रीट्वीट किया जा चुका है और लगभग 69 हज़ार लोग उनके इस ट्वीट पर रिप्लाई कर चुके हैं। पाकिस्तानी ब्लॉग सियासत के मुताबिक, #MeToo मुहिम 2017 की सबसे ज़्यादा असर करने वाली सामाजिक मुहिम मानी गई।

यह भी पढ़ें : उसने छेड़खानी के खिलाफ आवाज़ उठाई लोगों ने कहा- तुमने सबकी नाक कटवा दी

इसके अलावा अमेरिका की न्यूज़ एजेंसी ब्लूमबर्ग में लेखिका एलेक्सिस ने भी 16 अक्टूबर को #MeToo के साथ एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने लिखा था - इस बात का ध्यान रखें कि अगर कोई महिला #Metoo के साथ कोई पोस्ट नहीं कर रही है तो इसका ये मतलब नहीं है कि उसका कभी यौन शोषण नहीं हुआ। सर्ववाइवर्स आपको अपनी कहानी नहीं बताते। उनके इस ट्वीट को अब तक 57 हज़ार बार रीट्वीट किया जा चुका है और 1.56 लाख से ज्य़ादा लाइक मिले हैं।

अक्टूबर से शुरू हुआ ये सिलसिला अभी भी नहीं थमा है। दुनिया भर के लगभग 100 देशों की महिलाएं अभी तक अपने साथ हुई घटनाओं के बारे में लिख चुकी हैं और लगभग हर दिन इस हैशटैग के साथ ट्वीट किए जा रहे हैं। ट्रंप पर यौन शोषण के आरोप लगने पर भी #MeToo के साथ लोग ट्वीट कर रहे हैं। अमेरिकी ट्विटर यूज़र स्कॉट डॉरकिन लिखते हैं - आपने एक महिला का यौन शोषण किया। आपने शारीरिक और मानसिक रूप से उसका शोषण किया। आपने उसके साथ गलत व्यवहार किया। आपने ये सब किया। आप झूठे हैं। आप दोषी हैं। इस्तीफा दीजिए। उनके इस ट्वीट को पिछले 15 घंटे में 4 हज़ार से ज़्यादा बार रीट्वीट किया जा चुका है, और लगभग 8 हज़ार बार लाइक किया जा चुका है।

ये भी पढ़ें : “कुर्ते में हाथ डाला था, कोई कहां तक बर्दाश्त करे”


ये भी पढ़ें- ‘मैं एक सेक्स वर्कर हूं, ये बात सिर्फ अपनी बेटी को बताई है ताकि...’

गांव कनेक्शन टीवी के वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें.. Gaon Connection TV

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Share it
Top