व्हाट्सऐप पर सिर्फ 5 लोगों को भेज सकेंगें मैसेज, ये भी हुए हैं बदलाव

अगर आप व्हाट्सऐप का इस्तेमाल करते हैं, तो ये ख़बर आप के लिए है। सोशल मीडिया पर फेक न्यूज के जरिए बढ़ती घटनाओं को देखते हुए ‍व्हाट्सऐप ने भी कई बदलाव किए हैं..

Deepanshu MishraDeepanshu Mishra   22 July 2018 6:46 AM GMT

व्हाट्सऐप पर सिर्फ 5 लोगों को भेज सकेंगें मैसेज, ये भी हुए हैं बदलाव

अगर आप व्हाट्सऐप का इस्तेमाल करते हैं, तो ये ख़बर आप के लिए है। सोशल मीडिया पर फेक न्यूज के जरिए बढ़ती घटनाओं को देखते हुए ‍व्हाट्सऐप ने भी कई बदलाव किए हैं..

अाने वाले कुछ दिनों में आप एक मैसेज एक साथ 100 लोगों को नहीं भेज पाएंगे। सुरक्षा कारणों से व्हाट्सऐप ने पिछले दिनों कई कदम उठाए हैं। आने वाले दिनों में एक और बड़ा फैसला लागू होगा, जिसके तहत एक व्यक्ति किसी मैसेज या फोटो को एक साथ पांच लोगों से ज्यादा को नहीं भेज पाएगा। ये कदम फेक न्यूज से हो रही हिंसा के चलते उठाया गया है।

व्हाट्सऐप भारत में फेक न्यूज के कारण हो रही मॉब लिंचिंग पर लगाम लगाने के लिए रोज नए कदम उठा रही है। हाल ही में कंपनी ने व्हाट्सऐप पर फॉरवर्डड मैसेज पर लेबल का फीचर शुरू किया था। अब कंपनी एक और फीचर की टेस्टिंग कर रही है, जिसके आने के बाद यूजर मैसेज को ज्यादा ग्रुप में नहीं भेज पाएंगे। व्हाट्सऐप भारत में मैसेज फॉरवर्ड करने की संख्या को सीमित करने के बारे में विचार कर रही है और अगर ऐसा होता है, तो इसके बाद व्हाट्सऐप यूजर्स केवल पांच ग्रुप में ही मैसेज भेज पाएंगे।

भारत व्हाट्सऐप का एक बड़ा मार्केट है और यहां करीब 20 करोड़ लोग रोजाना इस ऐप का इस्तेमाल करते हैं। पिछले कुछ समय में व्हाट्सऐप पर फेक न्यूज के चलन काफी बढ़ गया है। इसके चलते कई लोग अपनी जान भी गंवा चुके हैं। कंपनी मैसेज को फॉरवर्ड लेबल करने के बाद अब उन्हें सीमित करने पर भी विचार कर रही है।

ये भीं पढ़े- फेक न्यूज़ "पाकिस्तानी लेडीज फ्रीस्टाइल कुस्तीबाज" और "RSS की दुर्गा वाहिनी की संन्ध्या फडके " की असलियत

केंद्र सरकार द्वारा जारी नोटिस

व्हाट्सएप का यह कदम केंद्र सरकार द्वारा गुरुवार को जारी दूसरे नोटिस के ठीक बाद आया है। जानकारी के अनुसार उन्माद और अफवाह फैलाने वाले संदेशों को रोकने में अब तक विफल रहे व्हाट्सएप से सरकार ने और सख्त उपाय करने को कहा है। व्हाट्सएप को भेजे अपने दूसरे पत्र में सरकार ने कहा है कि उसे इस तरह के उपाय करने होंगे जिससे जांच एजेंसियां अफवाह भरे संदेशों की पहचान कर सकें।

इससे पहले सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने तीन जुलाई को व्हाट्सएप से कहा था कि कंपनी अपने प्लेटफार्म का गलत इस्तेमाल होने से रोके। उसी दिन व्हाट्सएप ने जवाब भेजकर फारवर्ड मैसेज की जानकारी उपलब्ध कराई थी, लेकिन उसके बाद ही महाराष्ट्र के बीदर में 32 वर्षीय सॉफ्टवेयर इंजीनियर मोहम्मद आजम की हत्या व्हाट्सएप पर बच्चा चोरी के संबंध में फैले एक संदेश की वजह से हो गई। इसके बाद ही सरकार लगातार व्हाट्सएप की तरफ से किए जाने वाले उपायों पर विमर्श कर रही थी।

ये भी पढ़े- फेसबुक पर फर्जी, गलत ख़बर और फोटो डालना पड़ सकता है महंगा, जानिए क्या क्या मिल सकती है सजा ?

सरकार ने फिर व्हाट्सऐप को भेजा नोटिस दुनिया के किसी भी देश के मुकाबले भारत में सबसे ज्यादा मैसेज और वीडियो फॉरवर्ड किए जाते हैं। गुरुवार को सरकार ने व्हाट्सऐप को एक और चेतावनी जारी करते हुए फेक न्यूज रोकने के लिए बेहतर कदम उठाने के लिए कहा था। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने व्हाट्सऐप को प्रभावी हल निकालने के लिए कहा है और अगर ऐसा नहीं किया गया, तो कंपनी के खिलाफ कानूनी कार्रवई की जा सकती है।

हाल ही में 'Forwarded' का लेबल लाया था व्हाट्सऐप इससे पहले व्हाट्सऐप ने नया फीचर लॉन्च किया था जो मैसेज पर 'Forwarded' का लेबल लगा देगा। इससे आपको ये पता चल जायेगा कि कौन सा मैसेज फॉरवर्ड किया गया है। इससे निजी और ग्रुप चैट भी आसान हो जाएगा।

ये भी पढ़ें- ख़बर,फोटो, वीडियो साझा/ शेयर करने से पहले सोचे हज़ार बार: ऐसे करें रिपोर्ट

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top