गौरी लंकेश की हत्या पर सोशल मीडिया पर बोले लोग - गोलियां जान लेती हैं बहादुरी नहीं रोकतीं

गौरी लंकेश की हत्या पर सोशल मीडिया पर बोले लोग - गोलियां जान लेती हैं बहादुरी नहीं रोकतींगौरी लंकेश

लखनऊ। दक्षिणपंथी विचारधारा की आलोचक पत्रकार गौरी लंकेश को मंगलवार रात अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी। लोग गौरी लंकेश की तुलना नरेंद्र दाभोलकर, गोविंद पानसरे, एमएम कलबुर्गी जैसे पत्रकारों से कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर लोगों में उनकी हत्या को लेकर गुस्सा है।

पत्रकार, कलाकार, नेताओं से लेकर आम लोग हर कोई ट्वीट करके उनकी हत्या पर विरोध कर रहा है। ट्विटर पर #GauriLankesh ट्रेंड कर रहा है।

गीतकार ज़ावेद अख़्तर ने लिखा -दाभोलकर, पानसरे, कलबुर्गी और अब गौरी लंकेश। अगर एक ही तरह के लोगों को मारा जा रहा है तो इन्हें मारने वाले किस तरह के लोग हैं?''

टीवी पत्रकार और कवि आलोक श्रीवास्तव ने ट्वीट किया - जिनको सूरत समझ रहे हो

सिर्फ मुखौटे हैं वो ख़ालिस

पहचानो और पकड़ो उनको...

डरपोक-मुखौटों के दौर में निडर-पत्रकार को नमन् RIP #GauriLakesh

महाराष्ट्र कांग्रेस के सचिव शहज़ाद पूनावाला ने लिखा - हम में से बहुत सारे रडार पर हैं ... अक्सर दी जाने वाली मौत की धमकियों को हल्के ढंग से नहीं लिया जा सकता है। पता नहीं आगे किसका नंबर है।

कर्नाटक सरकार के कृषि मंत्री कृष्ण बाड़े गोवड़ा ने लिखा - गौरी लंकेश, उदारवादी मूल्यों की एक प्रखर कार्यकर्ता। प्रतिबद्धिता और सार वाली महिला। यह एक क्रूर हत्या है। हमारे लिए दुखद नुकसान।

वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने लिखा -पानसरे, कलबुर्गी, दाभोलकर और अब लंकेश...अगला कौन होगा? ये क्या हो रहा है? पिछले मामलों में दोषियों को अब तक पकड़ा क्यों नहीं गया है?

उन्होंने एक और ट्वीट किया - जो लोग विरोधी आवाजों को ख़ामोश करने के लिए बंदूकें उठाते हैं मैं उन्हें बताना चाहूंगा कि वे कायर हैं। तुम्हारी गोलियां जान ले सकती हैं लेकिन बहादुरी को रोक नहीं सकतीं।''

वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने ट्वीट किया - भारत में हम राम रहीम जैसे फ़र्जी लोगों के सामने सिर झुकाते हैं और तर्कशील महिला व पुरुषों की हत्या करहते हैं। पहले पानसारे, दाभोलकर, कलबुर्गी और अब गौरी लंकेश।

एबीवीपी पुणे की संयुक्त सचिव ने वरदा मराठे ने गौरी लंकेश की हत्या को उनके भाई से आपसी रंजिश को संदेह में रखते हुए ट्वीट किया - गौरी लंकेश ने अपने भाई रजनीश पर रिवाल्वर के साथ धमकाने की शिकायत दर्ज कराई थी। क्या हमारी मीडिया इस प्रकाश डालेगी।

निकिता जैन नाम की पत्रकार ने लिखा - आप जानते हैं गौरी लंकेश के साथ और किसकी मौत हुई? बोलने की आज़ादी की।

Share it
Top