सोशल मीडिया चौपाल

एक फोटो और फोटोग्राफर की पहल ने एक लड़की को नशे और वेश्यावृत्ति से बचा लिया

लखनऊ। लगभग दो हफ्ते पहले सोशल मीडिया पर बांग्लादेश के एक पिता और उसकी बेटी की कहानी वायरल हो रही थी। इस पिता ने अपनी 10 साल की बेटी सांता को ड्रग्स और वेश्यावृत्ति से बचाने के लिए उसे ज़ंज़ीर से बांधकर रखा था। बांग्लादेश के फोटोग्राफर जीएमबी आकाश ने इस बच्ची की फोटो खींची थी और उसकी कहानी अपने फेसबुक पेज पर शेयर की थी। इसके बाद उनकी ये फेसबुक पोस्ट वायरल हो गई। खास बात ये है कि जीएमबी आकाश की पोस्ट से इस पिता और उसकी बेटी की ज़िंदगी में एक अच्छा बदलाव आया है।

उनकी पोस्ट को बढ़कर सांता और उसके पिता की मदद के लिए कई हाथ आगे आए और लोगों ने मिलकर उनकी मदद की। आकाश ने एक और फेसबुक पोस्ट लिखकर इस बारे में बताया है। वह लिखते हैं कि ----

मेरे काम से सबसे ज़्यादा खुश तब होता हूं जब मैं किसी ज़रूरतमंद शख्स या परिवार की मदद कर पाता हूं कि वो एक छोटा सा व्यवसाय शुरू करके अपने परिवार और अपनी ज़रूरतों को पूरा कर सके। इसके लिए लोगों के साथ गहन चर्चा की आवश्यकता है ताकि वे अपने जीवन को सुधार सकें। इसके बाद मैं व्यवसाय के लिए सप्लायर्स और ज़रूरत के सामान को ढूंढता हूं, लोगों को सिखाता हूं, इसके साथ ही उनके काम को देखता हूं और उनका कोच भी बन जाता हूं। इन आम लोगों की ज़िंदगी को बेहतर बनाने के लिए कोई लोन या कर्ज़ नहीं होता।

सांता के पापा मोची थे और थोड़े से पैसे कमाने के लिए घर से काफी दूर जाते थे। उनकी पत्नी की मौत हो चुकी थी और वो अपनी 10 साल की बेटी सांता का ठीक से ख्याल नहीं रख पा रहे थे जिससे वो ड्रग्स लेने लगी और अक्सर कई रातों के लिए घर से गायब रहती थी। इस बात से डर कर कि उनका बच्चा ख़तरे में है, उसके पापा ने उसे चेन में बांध दिया।

सांता के पिता से कई दिनों तक बात करने के बाद मैंने और उन्होंने तय किया कि वे रिक्शे पर सब्ज़ी बेचने का काम शुरू करेंगे जिसे चलाकर वो कहीं वे ले जाकर सब्ज़ी बेच सकेंगे और रोज़ अच्छी कमाई कर पाएंगे। सांता भी उनके साथ रहेगी और उसे एक बेहरत ज़िंदगी मिलेगी।

अब सब कुछ सही है और हम सांता को डॉक्टर के पास भी ले जा रहे हैं ताकि उसके स्वास्थ्य के बारे में पता चल सके और उसे सही सलाह मिल सके। मैं उन सभी फेसबुक फॉलोअर्स का भी शुक्रिया अदा करना चाहता हूं जिन्होंने इस बिजनेस को शुरू करने में मदद की। इस तरह के प्रोजेक्ट मेरे फोटोग्राफी के करियर में एक मिशन की तरह हैं और मैं स्वतंत्र रूप से इनका समर्थन करता हूं।

सांता के पिता का कहना है कि हमने उनके लिए जो किया वो ज़िंदगी में कभी नहीं भूल पाएंगे। वो इस बिजनेस का और सांता का अच्छे से ख्याल रखेंगे और यही अब उनकी ज़िम्मेदारी है। वह इस सहायता के लिए भगवान से आपके लिए दुआ कर रहे हैं और चाहते हैं कि आप सबको जन्नत नसीब हो।