अयोध्या के मंदिर में भगवान के लिए लगाया गया हीटर, लोगों ने उठाए ‘सवाल’

Anusha MishraAnusha Mishra   22 Dec 2017 5:46 PM GMT

अयोध्या के मंदिर में भगवान के लिए लगाया गया हीटर, लोगों ने उठाए ‘सवाल’मंदिर में भगवान के लिए लगा हीटर

उत्तर भारत में तापमान धीरे - धीरे कम हो रहा है और सर्दी बढ़ती जा रही है। इस सर्दी से बचने के लिए अब लोगों का काम सिर्फ गर्म कपड़ों से नहीं चल रहा है इसलिए अब लोग हीटर का भी इस्तेमाल करने लगे हैं। लेकिन क्या आपने कभी देखा कि किसी मंदिर में भगवान को सर्दी से बचाने के लिए हीटर लगाया गया हो।

हाल ही में ऐसा हुआ है। न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने गुरुवार को एक ट्वीट किया जिसमें लिखा था - अयोध्या के जानकी घाट बड़ा स्थान मंदिर में भगवान को सर्दी से बचान के लिए हीटर लगाया गया है। महंत जनमेजय शरण ने कहा कि ठंडे मौसम में जलाभिषेक भी गर्म पानी से होगा।

लेकिन सिर्फ ये अकेला मंदिर नहीं है। न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, विश्व हिंदू परिषद ने अयोध्या में राम लला के मंदिर में भी हीटर लगवाने के लिए और राम लला की मूर्ति को गर्म कपड़े पहनाने के लिए कहा है। विश्व हिंदू परिषद के क्षेत्रीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने पीटीआई से कहा - हमारी मांग है कि भगवान राम को ऊनी कपड़े पहनाए जाएं, उनके लिए एक रज़ाई और रूम हीटर की व्यवस्था भी की जाए जिससे सर्दी से उनका बचाव हो सके।

यह भी पढ़ें : बच्चों ने लिखे सांता को दिल छू लेने वाले ख़त, सोशल मीडिया पर हो रहे वायरल

इस ख़बर के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने मंदिर के इस फैसले पर सवाल उठाने शुरू कर दिए। कुछ लोग इस फैसले से हैरान हैं तो कुछ इसके समर्थन में भी हैं।

राजू नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा - ये अजीब है, भगवान जो सबको आराम देते हैं, वो निश्चित रूप हर पर्यावरणीय परिस्थिति से अपनी हिफाजत खुद कर सकते हैं। वो सिर्फ इंसानों से इतना चाहते हैं कि लोग उन्हें याद रखें और उनकी इज़्ज़त करें।

यह भी पढ़ें : फुटपाथ पर पैदा हुआ, सड़क पर किताबें बेचीं, अब टेक्सास में कर रहा पढ़ाई

विजय बांगा नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा गया - शिव मंदिर और गंगोत्री की शुरुआत भी बर्फीले क्षेत्र से है, क्या वहां भी किसी हीटर की ज़रूरत है। भगवान को हीटर नहीं चाहिए, कमज़ोर इंसानों को चाहिए। शायद पुजारी को सर्दी लग रही थी और वो पूजा नहीं कर पा रहा था। भगवान के नाम पर अपनी मदद करना उनका अपमान करने जैसा है।

माई नेम इज़ ख़ान नाम के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया - उन्हें भगवान के लिए एक डॉक्टर भी अप्वाइंट कर देना चाहिए जो 24 घंटे उनकी देखभाल करे।

यह भी पढ़ें : ‘लोग क्या कहेंगे’ पर कमाल का तंज़ कर रहा है ये पाकिस्तानी वीडियो, आपको भी आएगा पसंद

हालांकि प्राची दुआ नाम की एक ट्विटर यूज़र इसका बचाव करते हुए लिखा - ये भगवान के लिए हमारी भावनाओं और केयर को दिखाने का एक तरीका है। वो हमें सबकुछ देते हैं और अच्छे से हमारी देखभाल करते हैं लेकिन ये हमारा प्यार और जज़्बात हैं जो हम उनके लिए बिल्कुल वैसा ही करते हैं जैसा किसी अपने प्यारे इंसान के लिए करते हैं।

मनीष अग्रवाल ने लिखा - हमें उनकी देखभाल ऐसे ही करनी चाहिए जैसे हम इंसानों की करते हैं। अगर हम प्रसाद में उन्हें कई स्वादिष्ट चीज़ें खिला सकते हैं तो गर्म पानी से अभिषेक क्यों नहीं करा सकते। गर्भ गृह में एसी और फैन भी तो लगाए जाते हैं।

ईश्वर दत्त नाम के ट्विटर यूज़र ने लिखा - हीटर भगवान की मूर्तियों के लिए नहीं हैं, ये महंत की त्वचा को सुरक्षित करने के लिए हैं। पागलपन की कोई सीमा नहीं होती।

यह भी पढ़ें : अनंतनाग हमले के शहीद की बेटी को लिखा डीआईजी का ये ख़त आपको झकझोर देगा...

हिंदू कॉलेज की फ्रेशर पार्टी में लगे पोस्टर में लड़कियों को लिखा गया ‘माल’

दुनिया भर की महिलाएं बता रही हैं अपने साथ हुई यौन हिंसा की कहानियां...

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top