भारत श्रीलंका चौथे वनडे में विराट कोहली और रोहित शर्मा का शानदार शतक

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   31 Aug 2017 8:26 PM GMT

भारत श्रीलंका चौथे वनडे में विराट कोहली और रोहित शर्मा का शानदार शतकभारतीय कप्तान विराट कोहली और सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा शतक बनाने के बाद।

कोलंबो (भाषा)। आर. प्रेमदासा स्टेडियम में गुरुवार को खेले गए भारत श्रीलंका चौथे वनडे मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली (131) और सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (104) ने एक बार फिर अपने बल्ले का जौहर दिखाते हुए पांच विकेट के नुकसान पर 375 रन बनाए। भारत ने श्रीलंका को 376 रन का लक्ष्य दिया है।

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने 96 गेंद में 17 चौकों और दो छक्कों की मदद से 131 रन की पारी खेलकर अपना 29वां शतक पूरा किया और सर्वाधिक शतक जड़ने वालों की सूची में तीसरे नंबर पर पहुंचे। उन्होंने रोहित (108) के साथ दूसरे विकेट के लिए 219 रन जोड़े। रोहित ने 88 गेंद की अपनी पारी में 11 चौके और तीन छक्के जड़े।

मनीष पांडे (42 गेंद में नाबाद 50, चार चौके) और अपना 300वां वनडे खेल रहे महेंद्र सिंह धोनी (42 गेंद में नाबाद 49, पांच चौके और एक छक्का) ने भी अंतिम ओवरों में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए छठे विकेट के लिए 12 . 2 ओवर में 101 रन की अटूट साझेदारी करके टीम का स्कोर 350 रन के पार पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। श्रीलंका के खिलाफ यह भारत का तीसरा सबसे बड़ा स्कोर है।

विराट कोहली ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन टीम ने दूसरे ओवर में ही शिखर धवन (04) का विकेट गंवा दिया जो तेज गेंदबाज विश्व फर्नांडो (76 रन पर एक विकेट) की गेंद पर डीप थर्ड मैन पर मलिंदा पुष्पकुमार के हाथों कैच कराया।

कोहली और पिछले मैच में नाबाद शतक जड़ने वाले रोहित ने इसके बाद शानदार बल्लेबाजी की। कप्तान ने आक्रामक रख अपनाया जबकि रोहित ने शुरुआत में सतर्कता बरती। विराट कोहली ने फर्नांडो पर लगातार तीन चौकों के साथ खाता खोला और फिर इस तेज गेंदबाज के अगले ओवर में भी दो चौके मारे। रोहित ने अपना पहला चौका सातवें ओवर में एंजेलो मैथ्यूज पर जड़ा। रोहित ने मैथ्यूज (24 रन पर दो विकेट) की गेंद पर डीप मिडविकेट पर छक्के के साथ नौवें ओवर में टीम के रनों का अर्धशतक पूरा किया।

विराट कोहली ने इसके बाद पुष्पकुमार पर भी लगातार दो चौके मारे। भारतीय कप्तान ने लसिथ मलिंगा (82 रन पर एक विकेट)पर चौके और एक रन के साथ 38 गेंद में अर्धशतक पूरा किया।

रोहित ने श्रृंखला में अब तक शानदार गेंदबाजी करने वाले आफ स्पिनर अकिला धनंजय (68 रन पर एक विकेट) की लगातार गेंदों पर चौके और छक्के के साथ 14वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया।

विराट कोहली ने भी पुष्पकुमार की गेंद को लांग आन पर छह रन के लिए भेजा। रोहित ने धनंजय की गेंद पर एक रन के साथ 45 गेंद में 50 रन पूरे किए। उन्होंने बाएं हाथ के इस स्पिनर की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का भी मारा।

विराट कोहली ने मिलिंदा श्रीवर्धने की गेंद पर चौके के साथ सिर्फ 76 गेंद में अपना 29वां शतक पूरा किया। उनसे अधिक शतक अब केवल महान भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (49) और आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग (30) ने जड़े हैं। कोहली ने अपनी मात्र 185वीं पारी में 29 शतक की उपलब्धि हासिल की जबकि सचिन तेंदुलकर ने इतने शतक पूरे करने के लिए 265 पारियां खेली थी। पोंटिंग ने यह उपलब्धि 330 पारियों में हासिल की थी।

भारतीय कप्तान ने इसके बाद फर्नांडो की गेंद पर छक्का और चौका जड़ा। कोहली ने फर्नांडो की गेंद पर एक रन से रोहित के साथ तीसरी बार 200 रन की साझेदारी पूरी की। वह हालांकि मलिंगा की गेंद पर हवा में शाट खेलने की कोशिश में कवर प्वाइंट बाउंड्री पर दिलशान मुनावीरा को कैच दे बैठे। यह वनडे क्रिकेट में मलिंगा का 300वां विकेट है. वह मुथैया मुरलीधरन (534) के बाद यह उपलब्धि हासिल करने वाले श्रीलंका के दूसरे और दुनिया के 13वें गेंदबाज हैं।

विराट कोहली ने अपनी इस पारी के दौरान श्रीलंका के खिलाफ 2000 रन पूरे किए। उन्होंने अपनी 44वीं पारी में यह उपलब्धि हासिल की जो किसी टीम के खिलाफ 2000 रन पूरे करने के लिए संयुक्त रूप से दूसरी सबसे कम पारियां हैं। तेंदुलकर ने श्रीलंका के खिलाफ 40 पारियों में 2000 रन पूरे किए थे। वेस्टइंडीज के विवियन रिचड्र्स ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ 44 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की थी।

भारत ने चौथे नंबर पर हार्दिक पंड्या को मौका दिया। पंड्या ने धनंजय पर चौका जड़ा लेकिन अगली गेंद पर अंपायर ने उन्हें आउट दे दिया। डीआरएस का सहारा लेने पर हालांकि तीसरे अंपायर ने उन्हें नाटआउट करार दिया। पंड्या ने धनंजय पर छक्का जड़ज्ञ जबकि रोहित ने मलिंगा पर चौके के साथ 85 गेंद में लगातार दूसरा और करियर का 13वां शतक पूरा किया।

पंड्या 19 रन के निजी स्कोर पर भाग्यशाली रहे जब मैथ्यूज की गेंद पर कवर में धनंजय ने उनका कैच टपका दिया। पंड्या हालांकि इस जीवनदान का फायदा नहीं उठा पाए और एक गेंद बाद वानिंदु डिसिल्वा को कैच दे बैठे। उन्होंने 18 गेंद में एक चौके और एक छक्के की मदद से 19 रन बनाए।

मैथ्यूज ने अगली गेंद पर रोहित को विकेटकीपर निरोशन डिकवेला के हाथों कैच कराया। मनीष पांडे ने मैथ्यूज को हैट्रिक से रोका लेकिन लोकेश राहुल (07) एक बार फिर विफल रहे और धनंजय की गेंद पर पवेलियन लौट गए जिससे भारत का स्कोर पांच विकेट पर 274 रन हो गया।

स्पोर्ट्स से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

भारतीय पारी को संवारने की जिम्मेदारी एक बार फिर पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के कंधों पर थी। मनीष पांडे ने 43वें ओंवर में श्रीवर्धने पर चौका मारा जबकि धोनी ने भी इसी ओवर में चार रन के साथ टीम का स्कोर 300 रन के पार पहुंचाया। धोनी ने मलिंगा पर छक्के के साथ 48वें ओवर में भारत का स्कोर 350 रन के पार किया। पांडे ने मलिंगा की पारी की अंतिम गेंद पर एक रन के साथ अर्धशतक पूरा किया।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top