रसूल और चहल के पास टी-20 विशेषज्ञ बनने का अच्छा मौका: कोहली

रसूल और चहल के पास टी-20 विशेषज्ञ बनने का अच्छा मौका: कोहलीविराट कोहली, क्रिकेटर

कानपुर (भाषा)। इंडियन प्रीमियर लीग में यजुवेंद्र चहल और परवेज रसूल की अगुवाई कर चुके भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि इंग्लैंड के खिलाफ गुरुवार से शुरू होने वाली तीन टी-20 मैचों की श्रृंखला में इन दोनों स्पिनरों के पास सबसे छोटे प्रारूप का विशेषज्ञ गेंदबाज बनने का सुनहरा मौका रहेगा।

रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा को टी-20 श्रृंखला से विश्राम दिया गया है और इसलिए स्पिन विभाग की जिम्मेदारी चहल और रसूल जैसे युवा गेंदबाजों पर होगी। कोहली ने इस बारे में कहा कि इन गेंदबाजों को आईपीएल में खेलने का अच्छा अनुभव है जो यहां भी काम आएगा।

कोहली ने मैच की पूर्व संध्या पर पत्रकारों से कहा, ‘‘जिन खिलाडियों को टीम में लिया गया है उन्होंने आईपीएल और घरेलू टी-20 में अच्छा प्रदर्शन किया है। वे किफायती रहे हैं और सही क्षेत्र में गेंदबाजी करते हैं, उन्हें अभी तक बड़ी श्रृंखला में खेलने का मौका नहीं मिला और इसलिए यह उनके पास टी-20 विशेषज्ञ के रुप में अपनी जगह पक्की करने का अच्छा मौका होगा।'' उन्होंने कहा, ‘‘चहल का प्रदर्शन हर किसी ने देखा है और रसूल भी आरसीबी में मेरी कप्तानी में खेल चुका है इसलिए मैं जानता हूं कि वह किस तरह की गेंदबाजी करता है।''

कोहली ने कहा, ‘‘वह (रसूल) आत्मविश्वास से भरा है, वह दुनिया के सबसे आक्रामक बल्लेबाज के सामने भी नई गेंद से गेंदबाजी कर सकता है। ये दोनों (रसूल और चहल) बहुत समझदारी से गेंदबाजी करते हैं। वे कुछ गेंदें खाली डालकर दबाव बना सकते हैं और इससे आपको विकेट मिलते हैं। यह इन दोनों के लिये महत्वपूर्ण श्रृंखला है और उनके पास टी-20 विशेषज्ञ के रुप में भारतीय टीम में जगह बनाने का यह सुनहरा मौका है।''

विश्व टी-20 के बाद कोई अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेल पाने वाले सुरेश रैना के बारे में कोहली ने कहा, ‘‘वह टी-20 विश्व कप के बाद नहीं खेला है। हमने इस बीच काफी टेस्ट मैच खेले और यह काफी लंबा अंतराल लगता है। यह सही संतुलन बनाने से जुड़ा मसला है। उम्मीद है कि वह अपनी लय हासिल करेगा। हमारा अब भी विश्वास है कि वह छोटे प्रारूपों में काफी योगदान दे सकता है।'' उन्होंने कहा, ‘‘यह श्रृंखला कई खिलाड़ियों के लिये फिर से फार्म में लौटने या टीम में अपना स्थान पक्का करने के लिये शानदार मौका है। इसलिए हर किसी को इस टीम में शामिल किया गया है क्योंकि हमें उन पर विश्वास है, हमें उन पर भरोसा है, वे भविष्य में भी योगदान दे सकते हैं। आखिर में यह एक खिलाड़ी पर निर्भर करता है कि वह कितना तैयार है और वह मौके का फायदा उठाने के लिये कितना बेताब है।'' कोहली ने इसके साथ ही स्पष्ट किया कि टीम संयोजन में बहुत अधिक बदलाव की संभावना नहीं है और साथ ही जोड़ा कि वह भी पारी का आगाज कर सकते हैं जैसे कि वह आईपीएल में आरसीबी की तरफ से भी कर चुके हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘अभी यह (संयोजन तैयार करना) आसान है, समस्या तब आती है जबकि निरंतरता का अभाव हो। हम कुछ मैचों के बाद ही सर्वश्रेष्ठ संयोजन का पता कर पाएंगे। पहले मैच में आपके पास एक तय लाइन अप होगी लेकिन अगर बल्लेबाजी क्रम में निरंतरता मसला बनता है तो फिर यह मुश्किल होती है कि आप उस खिलाड़ी को टीम में बनाये रखना चाहते हैं या नहीं।'' कोहली ने खुद के पारी के आगाज करने के बारे में कहा, ‘‘सभी तरह की संभावनाएं हैं, आईपीएल में आपके पास ज्यादा भारतीय बल्लेबाज नहीं होते हैं क्योंकि वे कई फ्रेंचाइजी टीमों से जुडे़ रहते हैं। जहां तक भारतीय बल्लेबाजों का सवाल है तो यहां आपके पास काफी विकल्प होते है. अगर जरुरत पडी तो मैं पारी का आगाज कर सकता हूं। यह टीम के संतुलन पर निर्भर करता है, मैंने केवल एक या दो टी-20 अंतरराष्ट्रीय में पारी की शुरुआत की है लेकिन मुझे आईपीएल में ओपनिंग का अनुभव है, जरूरत पड़ने पर मैं ऐसा कर भी सकता हूं और नहीं भी।''

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top