सरकार ने खरीदी 1.11 लाख टन दाल

सरकार ने खरीदी 1.11 लाख टन दालgaonconnection

नई दिल्ली (भाषा)। सरकार ने दलहन की कीमतों में पर अंकुश लगाने के उपायों के अंतरगत दाल का बफर स्टॉक बनाने के लिए किसानों से अभी तक 1.11 लाख टन दलहन की खरीद की है। इसके अलावा 38,500 टन दलहनों का आयात करने का अनुबंध किया है।

केंद्र ने राज्य सरकारों से बफर स्टॉक से दलहनों को लेकर उनकी बिक्री कराने की मांग की ताकि लोगों को ज्यादा से ज्यादा 120 रुपए प्रति किलोग्राम से अधिक का दाम न देना पड़े।

आवश्यक जिंसों के कीमतों की समीक्षा के लिए उपभोक्ता मामला विभाग के सचिव हेम पेंडे की अध्यक्षता में एक अंतर मंत्रालयीय समिति की आज बैठक हुई। बैठक में सूचित किया गया है कि देश में करीब 13,000 टन दलहन पहले से पहुंच चुका है और अनुबंध किये गये 38,500 टन दलहन में से 6,000 टन आने के रास्ते में है।

सरकार ने विगत दिसंबर में फैसला किया कि खुदरा बाजार में जब दलहन की कीमतें मजबूत हों जो वैसी स्थिति में बाजार हस्तक्षेप करने के उद्येश्य से 1.5 लाख टन दलहन का बफर स्टॉक बनाया जाए। सरकार ने दलहन की घरेलू आपूर्ति को बढ़ाने के लिए इसका आयात भी करती है।

एक सरकारी बयान में आज कहा गया कि देश में करीब 13,000 टन आयातित दलहन पहुंच चुका है और अनुबंधित दलहनों में से करीब 6,000 टन आने के रास्ते में है। देश में आये दलहनों में 11,000 टन अरहर और 2,000 टन उड़द शामिल है। इसमें कहा गया है कि आयात के लिए अनुबंधित 38,500 टन दलहन के अलावा सरकारी एजेंसियों ने 51,000 टन खरीफ और 60,000 टन रबी दलहन की अभी तक खरीद की है।

बयान में कहा गया है कि अनुरोध किये जाने पर बफर स्टॉक से तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान और तेलंगाना को कुछ दलहन आवंटित किये गये हैं। तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना उपभोक्ताओं को आगे और लाभ देने के लिए उसकी कीमतों में कुछ और सब्सिडी दे रही हैं।

दिल्ली में केंद्रीय भंडार और सफल को अपने बिक्री केंद्रों के जरिये दलहनों की बिक्री करने के लिए इसका आवंटन किया गया है। अभी तक इन एजेंसियों को 120 रुपए प्रति किग्रा की दर से 635.31 क्विंटल अरहर और 245 क्विंटल उड़द की बिक्री की गई है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top