#स्वयंफेस्टिवल : महिलाओं ने जाने अपने अधिकार, कराई स्वास्थ्य जांच

#स्वयंफेस्टिवल : महिलाओं ने जाने अपने अधिकार, कराई स्वास्थ्य जांचललितपुर में मुफ्त दवाएं बांटते डाक्टर। 

अरविंद सिंह परमार

सिंदवाहा /ललितपुर। बुन्देलखण्ड के अति पिछड़े जनपद ललितपुर जिले के महरौनी तहसील के सिंदवाहा गाँव मे "गाँव कनेक्शन" ने चौथी वर्षगांठ पर स्वयं फेस्टिवल के दौरान "महिला सशक्तीकरण व स्वास्थ्य शिविर" का आयोजन हुआ। इस दौरान महिला हिंसा पर कानूनी जानकारी, महिलाओं को सम्मान व समान अधिकार, समूह निर्माण व बचत, महिलाएं व किशोरियों के मासिक धर्म,स्वच्छता व स्वास्थ्य, दवा आदि की जानकारी के संवाद को संभव बनाया गाँव कनेक्शन के "स्वयं फेस्टीबल 2016 ने।

देश के पहले ग्रामीण अख़बार गाँव कनेक्शन की चौथी वर्षगांठ पर गाँव कनेक्शन फाउंडेशन स्वयं फेस्टिवल 2016 का उत्तर प्रदेश के 25 जिले में आयोजन कर रहा है।

स्वयं फेस्टिवल यूपी के 25 जिलाें में चल रहा है।

महिला सशक्तीकरण पर दिया बल

महिला सशक्तीकरण पर बल देते हुए पूर्व बार संघ अध्यक्ष रामेश्वर प्रसाद चौबे ने कहा कि "महिलाओं को पुरुषों के बराबर समान अधिकार कानून ने दिये हैं, लेकिन जानकारी का अभाव है! जिस बजह से घरेलू हिंसा होती है, महिलाओं को अपनी चुप्पी तोड़ कर हक, सम्मान, अधिकार के लिए आगे आना चाहिए!" दहेज जैसी कुप्रथा का समाज मे चलन है, जिसको लेकर घरेलू हिंसा पनपती है, जिस कारण तमाम महिलाएं निराश होकर आत्महत्या जैसे कदम उठाती है। जिस पर प्रकाश डालते हुए वरिष्ठ अधिवक्ता श्याम बिहारी तिवारी ने कहा कि "दहेज लेना व देना कानूनी अपराध है, जिसको लेकर महिलाओं पर घरेलू अत्याचार होते हैं, अत्याचार को सहन मत करो बल्कि जागरूक बनकर लड़ना सीखो। और पुलिस का सहयोग लो, अन्यथा की स्थिती मे न्यायालय की शरण लो।" महिलाओं को तमाम जानकारी देकर जागरूक किया गया।

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने व रोजगार से जोड़ने के लिए "स्वयं सहायता समूह" समक्ष बनाने के लिए समूह एक्सपर्ड शाहिद खान ने 15 समूहों की महिलाओं को बताया कि "गरीब महिलाओं के सुख दुःख में समूह की महत्वपूर्ण भूमिका है, बचत कर जरूरत के समय रूपयो का उपयोग कर सकते है, जिसको नियमित चलाने के लिए बचत आवश्यक है। माह में एक बार समूह बैठक कर नियमित चलाने पर जोर दिया, और समूह के फायदों पर जोर दिया।

बुन्देलखण्ड डेवलपमेन्ट फाउन्डेशन के सुधीर त्रिपाठी ने किशोरियों, महिलाओं व पुरुषों को बताया कैसे स्वस्थ रहें।

गाँव की किशोरियों, महिलाओं व पुरुषों के बीच मासिक धर्म जैसे अहम मुद्दे पर बुन्देलखण्ड डेवलप मेन्ट फाउन्डेशन के सुधीर कुमार त्रिपाठी ने प्रकाश डालते हुए कहा कि " मासिक धर्म शारीरिक प्रक्रिया है, जिसमें भेदभाव नहीं करना चाहिए, व परिवारीजनों को किशोरियों व महिलाओं से खुलकर बात करनी चाहिए, माहमारी से होने वाली परेशानियां को दूर किया जा सके। शर्म, झिझक को छोड़कर खुलकर बात करने पर जोर दिया। वो आगे बताते हैं कि" माहमारी को दौरान साफ सुथरे कपड़े के प्रयोग करने की सलाह दी, जिससे आन्तरिक बीमारियों से बचा जा सकता है। स्वच्छता पर जोर देते हुए सुधीर त्रिपाठी ने आगे बताया कि "स्वच्छता हमारे परिवेश का अहम अंग है,शरीर की नियमित साफ सफाई करना चाहिए। जिससे बीमारियों व कुपोषण जैसी स्थितियां हम सब पर हावी ना हो सकें।" लगभग 250 परिवार के सदस्यों ने माहमारी जैसे मुद्दे की जानकारी प्राप्त की।

स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी देते हुए डा ब्रजेश वर्मा चिकित्साधिकारी महरौनी ने कहा कि " सरकार की स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ उठाये, शरीर का चैकअप हमेशा करवाते रहे। कोई भी बीमारी होने पर लापरवाही कतई ना बरते, क्योकि लापरवाही से छोटी सी बीमारी बड़ा रूप ले लेती है, शरीर के प्रति जिम्मेदार रहे।"

स्वास्थ्य जांच शिविर में भाग लेते ग्रामीण।

स्वास्थ्य शिविर :- डा० ब्रजेश वर्मा (चिकित्साधिकारी), टी०टी० सेन स्वास्थ्य परिवेक्षक ने स्वास्थ्य शिविर को संभाला। जिसमें गाँव के 100 मरीजों को खून टेस्ट व 60 मरीजों को दवा वितरण की गई। जिससे ग्रामीणों को निःशुल्क दवा हुई। मक्खन बाई (70 वर्ष) ने बताया कि "दवा कराने के लिए 20 किमी दूर जाना पड़ता है, मेरी छाती मे दर्द हो रहा था, लड़कों से कहा लेकिन कोई मुझे नही ले गया, दवा नहीं थी! शिविर लगने से समय से मुझे दवा मिल गई।" रामरती (62 वर्ष) ने शिविर से दवा ली, उस समय वो काफी खुश थी, कह रही थी कि हमारे घटनों का दर्द मिट जायेगा। महरौनी नही भागना पड़ा। "

पूर्व बार संघ अध्यक्ष रामेश्वर प्रसाद चौबे, महिला हिंसा पर बात रखते हुए।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पूर्व बार संघ अध्यक्ष रामेश्वर प्रसाद चौबे एड०,वरिष्ठ अधिवक्ता श्याम विहारी तिवारी एड०, डा० ब्रजेश वर्मा (चिकित्साधिकारी), महरौनी टी०टी० सेन स्वास्थ्य परिवेक्षक, सुधीर त्रिपाठी बुन्देलखण्ड डवलपमेन्ट फाउन्डेशन, जितेन्द्र तिवारी साई ज्योति संस्थान, गाँव कनेक्शन से भास्कर त्रिपाठी, अरविन्द्र सिंह परमार, शाहिद खाँन, सुखवेन्द्र सिंह,व सत्यनारायण, अवनीश लिटौरिया, आदि ग्रामीण मौजूद थे। आभार सत्यनारायण ने किया।

डा० ब्रजेश वर्मा सुधीर कुमार त्रिपाठी को प्रमाण पत्र देते हुए।
डा० ब्रजेश वर्मा जितेन्द्र तिवारी को प्रमाण पत्र देते हुए।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org)

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top