#स्वयंफेस्टिवल: पुलिस बदल रही है आप खुद को भी बदलें

#स्वयंफेस्टिवल: पुलिस बदल रही है आप खुद को भी बदलेंस्वयं फेस्टिवल में बाराबंकी के सरदार पटेल महिला महाविद्यालय में पुलिस की ट्वीटर सेवा, डॉयल 100 और वुमेन पावर लाइन 1090 की जानकारी देते पुलिसकर्मी।

रविन्द्र वर्मा ( कम्युनिटी जर्नलिस्ट) 35 वर्ष

बाराबंकी। बाराबंकी के अपर पुलिस अधीक्षक शफ़ीक़ अहमद ने कहा कि पुलिस अपने आपको बदल रही है, जरूरत है कि अब हम भी खुद को बदलें। पुलिस को सहयोग करें। सहयोग लें। कानून के दायरे में रह कर काम करें और विधि का सम्मान करें।

देश के सबसे बड़े ग्रामीण आयोजन स्वयं फेस्टिवल के पहले दिन शुक्रवार को बाराबंकी के पटेल महिला कॉलेज में यूपी पुलिस की ओर से सत्र का आयोजन किया गया। जिसमें आए सैकड़ों छात्रों और ग्रामीणों को पुलिस अधिकारियों ने उनके अधिकारों के बारे में बताया। इसके साथ ही उनको बताया गया कि किस तरह से वे पुलिस की मदद कर के कानून व्यवस्था बेहतर बनाने में सहयोग कर सकते हैं।

पटेल महिला कॉलेज में पुलिस कार्यप्रणाली का बारीकियां समझाते एएसपी शफीक अहमद, साथ में हैं सीओ सिटी संतोष सिंह और कॉलेज की प्राचार्या ऊषा चौधरी।

एएसपी शफीक अहमद ने बताया कि पुलिस बदल रही है लेकिन आप को भी हाथ बढ़ाना होगा। उन्होंने कहा कि पुलिस के लिए जरूरी है कि वह ऐसा वातावरण बनाए कि जब कहीं दो पुलिस कर्मी पहुंचे तो ये न समझा जाए कि ये डंडा फटकारने आए हैं। माना जाये कि ये लोग हमारी मदद के लिए आए हैं।

इस मौँके पर सीओ सिटी संतोष सिंह ने भी लोगों को बताया कि किस तरह से यूपी पुलिस नई सेवाओं को आगे बढ़ा रही है जिससे लोगों को लाभ मिल सके।

इस मौके पर कॉलेज की प्राचार्य उषा चौधरी ने भी यहां मौजूद ग्रामीणों और विद्यार्थियों को स्वयं फेस्टिवल से उनको हो रहे लाभों की जानकारियां दीं। उन्होंने कहा कि ये प्रयास जो गाँव कनेक्शन कर रहा है, उससे ग्रामीणों को बहुत लाभ मिलेगा। उनका जीवन स्तर ऊपर उठाने का भी ये एक प्रयास है।

कॉलेज में पुलिस कार्यक्रम के दौरान कई छात्राओं ने वुमेन पावर लाइन 1090 के तहत पावर एंजेल बनने के लिए फार्म भी भरे।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top