बिजली की समस्या से निपटने के लिए बने कंट्रोल रूम

बिजली की समस्या से निपटने के लिए बने कंट्रोल रूमग्रामीण अभियंत्रण विभाग के मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

प्रतापगढ़। “जिले के किसी भी ब्लॉक में ट्रांसफार्मर खराब होने पर 48 घंटों में बदला जाना चाहिए, जहां भी ट्रांसफार्मर 48 घण्टे में बदला न जाए वहां के सम्बंधित अवर अभियन्ता के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जाए।” ये ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह ने सभी विभागीय अधिकारियों के साथ विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में कहा।

ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह ‘मोती सिंह’ ने निरीक्षण भवन पट्टी में बारी-बारी से समस्त विभागीय अधिकारियों के कार्यों की समीक्षा की। उपजिलाधिकारी पट्टी को निर्देशित किया कि तहसील स्तर पर एक कन्ट्रोल रूम की स्थापना की जाए, जिस पर जले हुए ट्रांसफार्मर की सूचना जनता द्वारा उपलब्ध कराई जा सके और उसका तत्काल निराकरण सम्भव हो सके।

ये भी पढ़ें- किसान निजी दुकानों को करें बायकॉट,अब ऑनलाइन पंजीकरण के माध्यम से पायें बीजों पर अनुदान

‘निर्धारित तिथि पर गड्ढामुक्त हो सड़क’

लोक निर्माण विभाग की समीक्षा बैठक में मंत्री ने कहा कि गड्ढामुक्त सड़क 15 जून तक निर्धारित तिथि पर हो जानी चाहिए। इस काम में किसी भी प्रकार की शिथिलता या ढिलाई विभाग द्वारा की गई तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जल निगम की समीक्षा में विधानसभा क्षेत्र पट्टी में पाइप पेयजल योजना के बारे में अधिशाषी अभियंता जल निगम राजेश खरे से मंत्री ने पूछा कि बिछाई गई पाइप लाइन में आप ने कितना काम पूरा कराया है।

ये भी पढ़ें- अब माताओं के समूह की नज़र रहेगी बच्चों के मिड-डे मील पर

ग्रामीण अभियंत्रण विभाग मंत्री ने उनके उत्तर से सन्तुष्ट न होने पर विभाग द्वारा बिछाई गई पाइप लाइन और कराये गए अन्य कार्यों की जांच के लिए एक समिति का गठन करने और उक्त स्थल का भौतिक सत्यापन कराने का निर्देश जिलाधिकारी को दिया। सिंचाई विभाग की समीक्षा बैठक में उन्होंने अधिकारियों को निर्देश जारी करते हुए कहा कि नहरों में भरपूर मात्रा में जल की व्यवस्था रहनी चाहिए।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top