‘बिगड़ती लाइफस्टाइल खराब कर रही बच्चों की आंखें’ 

‘बिगड़ती लाइफस्टाइल खराब कर रही बच्चों की आंखें’ स्वयं प्रोजेक्ट के तहत किया गया नि:शुल्क नेत्र परिक्षण।

अश्वनी द्विवेदी (स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क)

लखनऊ। बिगड़ती लाइफ स्टाइल और खानपान बच्चों को समय से पहले बूढ़ा बना रही है। आंखों से सम्बंधित बीमारियों के शिकार बड़ों से ज्यादा बच्चे हो रहे हैं।

लखनऊ जनपद मुख्यालय से 10 किमी की दूरी पर स्थित बासमंडी के इरम मॉडल करियर स्कूल में गाँव कनेक्शन फाउंडेशन के स्वयं प्रोजेक्ट के तहत नेत्र शिविर वासन आई केअर हॉस्पिटल द्वारा लगाया गया। शिविर में 81 बालक और बालिकाओं का नि:शुल्क नेत्र परिक्षण किया गया। साथ ही बुजुर्ग महिला और पुरुषों का भी परीक्षण किया गया। वासन आईकेयर से आये डॉ. अतुल ने बड़े और बच्चों को आंखों को स्वस्थ रखने के उपाय बताए।

डॉ. अतुल ने बताया कि नेत्र परिक्षण के दौरान 6 से 15 वर्ष की बालक और बालिकाओं की आई साइड कमजोर है, जिन्हें अस्पताल में चिकित्सा के लिए संदर्भित किया गया है। उन्होंने आगे बताया कि अनियमित खानपान, फ़ास्ट फ़ूड, बच्चों का कम रोशनी में या लेटकर पढ़ना, टीवी करीब से देखना, मोबाइल में ज्यादा वीडियो गेम खेलना, इनकी वजह से बच्चों की आंखों की बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top