#स्वयंफेस्टिवल : सूचना मिलने के 20 मिनट में पहुंच रही पुलिस

#स्वयंफेस्टिवल : सूचना मिलने के 20 मिनट में पहुंच रही पुलिसयूपी 100 की विशेषताएं बताते यूपी पुलिस के अधिकारी।

कम्युनिटी रिपोर्टर : अंकित खंडेलवाल

स्वयं फेस्टिवल : छठा दिन। स्थान : आगरा के एतमादपुर ब्लाक का कालिंदी बिहार गाँव

गाँव कनेक्शन फाउंडेशन की ओर से आयोजित स्वयं फेस्टिवल के छठे दिन कालिंदी बिहार गाँव में यूपी 100 के सत्र में ग्रामीणों की ओर से ढेरों सवाल आए कि कैसे यह उनकी मदद करेगा।

अधिकारियों ने बताया कि यूपी 100 सेवा शहर हो देहात, दिन हो या रात, सबकी मदद कर रही है। गांव से लेकर शहर तक लोग इसका लाभ उठा रहे हैं। बुजुर्ग, महिलाएं और लड़किया यूपी 100 एप को अपने स्मार्टफोन में डाउनलोड करें। जिससे किसी भी आपातकालीन स्थिति में बस एक मिस कॉल करने पर उनकी मदद के लिए यूपी 100 पहुंच जाएगी। गांव के लोग भी इस सेवा का अधिक से अधिक उपयेाग करें।

पुलिस के प्रतिनिधियों ने जब बताया कि अखिलेश सरकार की सबसे आधुनिकतम हेल्पलाइन यूपी 100 है। इस सेवा की नींव अमेरिका की 9/11 आपातकालीन सेवा के आधार पर रखी गई है। यानि शहरों में पुलिस घटनास्थल पर 15 मिनट में पहुंचेगी और गाँवों में 20 मिनट में।

यूपी 100 के सत्र में पुलिस अधिकारियों से सवाल करतीं आगरा की महिलाएं।

जान बचा रहा यूपी 100

यह लोगों की सहायता करने के साथ ही लोगों का जान भी बचा रही है। यूपी 100 की टीम ने अपनी शुरुआत के एक हफ्ते के अंदर ही प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में पारिवारिक और मामूली विवाद में आत्महत्या की कोशिश करने वाले दर्जनों लोगों की जान बचाई है।

गाँव कनेक्शन ने बीते दिनों एक खबर छापी थी जिसमें बताया गया कि पूर्व मुख्यमंत्री वीरबहादुर सिंह के गांव हरनही में सुरेश सिंह का अपने बेटे से झगड़ा हो गया। इसके बाद गुस्से में आकर उसने अपने परिवार वालों को एक कमरे में बंद कर लिया और शरीर पर मिट्टी का तेल उड़ेल कर आत्महत्या की कोशिश की। उसके बेटे को कुछ नहीं सूझा तो उसने यूपी 100 पर मदद मांगी। कुछ ही मिनटों में पुलिस घर पहुंच गई ओर उसके पिता की जान बचा ली।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top